दस साल क़ी उम्र में शुरू किया था गाना, मिंजरां दे मेले में फिर सुनाई देगी गेहरा क़े युवा गायक कुशल धवल क़ी मखमली आवाज,

Spread the love

पालमपुर से ललिता कपूर क़ी रिपोर्ट

अगले माह रिलीज होने वाली म्यूजिक अलबम मिंजरा दे मेंले में चंबा क़े गेहरा क्षेत्र क़े युवा गायक कुशल धवल क़ी मखमली आवाज एक बार फिर सुनाई देगी. इससे पहले वे पहाडी़ एलबम चम्ब्याली जलसा, जोवन, किनु प्यारी जैसमें अपनी प्रतिभा दिखा चुके हैं.उन्हें
“वनवासिया रामा” गीत से काफी पहचान मिली.
बचपन से शुरू किया गाना
05 मई 1990 को माता विमला देवी और पिता मुंशी राम क़े घर पैदा हुए कुशल गेहरा से स्कूली पढ़ाई पूरी करने क़े बाद चंबा कॉलेज से स्नातकोतर और बीएड क़ी है. उनके पिता लोक निर्माण विभाग में सुपरवाईजर क़े पद पर कार्यरत हैं. कुशल ने 10 साल की उम्र मे स्कूल मे गाना शुरू किया पर घर वालो ने शुरू मे पढाई की वजह से गायकी छोड़ने की सलाह दी. इस वजह से घर से छुप -छुप कर गीत- संगीत क़े कार्यक्रमों मे जाना शुरू किया.

वायस ऑफ़ चंबा का खिताब

पढाई के साथ ही गायकी भी जारी रखी. कॉलेज मे पहली बार दोस्तो के कहने पर पहली बार मंच पर गाया. 2011 में कॉलेज के दिनो मे voice of chamba का खिताब जीत कर अपनी गायिकी का लोहा मनवाया. यहीं से गायकी के कैरियर की शुरुआत हुई. साल 2011 में 19 साल की उम्र मे अंतर राष्ट्रीय मिंजर ममहोत्सव मे भी गाने का पहली बार मौका मिला. अब हिमाचल के लगभग सभी बड़े मंचों समर फेस्टिवल शिमला, लवी मेला रामपुर, मंडी शिवरात्रि मे अपनी गायकी से सुनने वालों का मन मोह लिया.


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *