भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई, कई महिलाएं आत्मनिर्भर बनाईं, दुबई से लौट कर इंदौरा के अशोक कुमार पठानिया लिख रहे महिला सशक्तिकरण की प्रेरककथा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

गृहणी स्वरोजगार महिला संघ के गठन के लिए बेच दी लाखों की पुश्तैनी, अब सामने आने लगे सुखद परिणाम
इंदौरा से सुखदेव सिंह की रिपोर्ट
कांगड़ा जिला के इंदौरा ब्लाक के मलाहड़ी गांव के अशोक कुमार पठानिया एक तरफ जहां भ्रष्टाचार से लड़ रहे हैं, दूसरी तरफ महिलाओं को अपने पांवों पर खड़ा कर महिला सशक्तिकरण की नई इबारत लिख रहे हैं। डेढ़ दशक से भी ज्यादा समय तक खाड़ी देशों में रोजी- रोटी के लिए कड़ा संघर्ष कर चुके पठानिया गृहणी स्वरोजगार महिला संघ गठित कर अपने क्षेत्र की महिलाओं को स्वरोजगार से जोडक़र आत्मनिर्भर बनाने में जुटे हैं। उन्होंने इस मिशन के लिए लाखों रूपए मूल्य की अपनी पुश्तैनी जमीन तक बेच दी है। उनके प्रयासों से स्थानीय महिलाओं द्वारा तैयार किए कपड़े बैग अब स्थानीय मार्केट में खूब पंसंद किए जा रहे हैं। उनके प्रयासोंं से कई स्वयं सहायता समूह आचार बनाकर आजीविका का साधन बना चुके हैं।
भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ता सिपाहीए आंदोलन पर लगाई 15 लाख की कमाई
भ्रष्टाचार के खिलाफ जब दिल्ली में अन्ना हज़ारे, अरविंद केजरीवाल और मुनीष सिसोदिया ने आंदोलन किया तो अशोक कुमार पठानिया ने भी उसमें बढ़- चढक़र हिस्सा लिया था। खाड़ी देशों में कड़ी मेहनत से कमाया पंद्रह लाख इस आंदोलन को खड़ा करने में लगा दिया। हिमाचल प्रदेश और पंजाब एन्टी क्रप्शन कमेटियां बनाने में अहम भूमिका अदा की। उस समय कांगड़ा में अरविंद केजरीवाल की रैली आयोजित करवाने में भी अहम भूमिका निभाई।
खाड़ी में मोटर मैकेनिक का काम
अशोक कुमार पठानिया एक साधारण परिवार से सम्बंध रखते हैं। मोटर मैकेनिक की आईटीआई करके दो साल हिमाचल पथ परिवहन निगम की जसूर ब्रांच में काम सीखा। एक साल पानीपत, दो साल डमटाल में अपनी सेवाएं देने के बाद अगस्त 2003 में दुबई की एक कंपनी में बतौर मैकेनिक सहायक काम किया। इस दौरान शादी हो गई और साल बाद पुत्र रत्न की प्राप्ति। अशोक ने खाड़ी में लाइट व हैवी ड्राइविंग लाइसेंस कर 2009 के अंत में दोहा कतर में भी काम किया। वहां नौ महीने काम करने के बाद वह घर लौट आए और महिला सशक्तिकरण की पहल की।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *