इतिहास के पन्नों से- चंबा के राजा शाम सिंह के हुक्म से नंगे बदन पर 144 बेंत खाने के बाद भी अपने स्टैंड पर अड़ा रहा सिहुंता का लर्जा

मंडी से विनोद भावुक की रिपोर्ट साल 1895 में चंबा अंग्रेजों के अधीन नहीं था। यहां…

करियाला, बांठड़ा, धाजा और भगत लोकनाट्यों पर एचपीयू के अंग्रेजी डिपार्टमेंट से रिसर्च करने वाली पहली हिमाचली दिव्य शर्मा

धर्मपुर कॉलेज में इंगलिश की असिस्टेंट प्रोफेसर दिव्य शर्मा ने सिमटती हिमाचली लोकनाट्य परम्पराओं पर किया…