दिल्ली में आर्किटेक्ट की जॉब छोड़ कांगड़ा से द हेल रेस का स्टार्टअप करने वाली यूपी की लडक़ी की प्रेरककथा

Spread the love

धर्मशाला से अरविंद शर्मा की रिपोर्ट

दुनिया भर के एडवेंचर स्पॉर्ट्स के शौकीन पहाड़ पर रोमांच भरे सफर का स्टारर्टअप करने वाली ‘द हेल रेस’ कंपनी के बारेे में बखूबी जानते हैं। यह कंपनी पिछले दो साल से हिमाचल प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में माउंटेन साइकिलिंग और रनिंग इवेंट्स का आयोजन कर रही है। इन इवेंट्स में दुनिया भर के खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। कंपनी अभी आठ इवेंट्स का आयोजन कर चुकी है, जिसमें दुनिया भर के प्रतिभागी भाग ले चुके हैं। द हेल रेस का स्टार्टअप उत्तर प्रदेश की 30 साल की एक लडक़ी नुपुर सिंह का। वर्ष 2016 में दिल्ली में आर्किटेक्ट की जॉब छोड़ कांगड़ा जिला के बीड़ में द हेल रेस की स्थापना करने वाली नूपुर सिंह ने अपने यूनीक आइडिया से एक कामयाब युवा उद्यमी के तौर पर अपनी पहचान बनाई है और पहाड़ पर आर्थिकी व रोजगार की नई संभावनाएं तलाशी हैं।

कौन हैं नुपुर सिंह

नूपुर सिंह यूपी के ललितपुर में पैदा हुई और उसकी पढ़ाई इंदौर के एक बोर्डिंग स्कूल में हुई। अपने स्कूल और कॉलेज के दिनों में वह राष्ट्रीय स्तर पर एयर राइफल शूटिंग, बास्केटबॉल खिलाड़ी रही है। वे एक ट्रैकर के रूप में भी अपनी पहचान रखती हें। पूणे से आर्टिकेक्ट की पढ़ाई करने के बाद नूपुर सिंह दिल्ली में काम कर रहीं थीं, लेकिन बचपन से प्रकृति प्रेमी रहीं नूपुर ने जॉब छोड़ साहस और रोमांच के खेल में अपने स्टार्टअप की शुरूआत की है।

ऐसे आया बिजनेस आइडिया

पेशे से आर्किटेक्ट नुपुर सिंह दिल्ली में एक कंपनी के लिए काम कर रहीं थीं, तभी वर्ष 2004 में वे अपने कुछ साथियों के साथ एडवेंचर ट्रिप के लिए हिमाचल प्रदेश आईं। इस ट्रिप ने उसकी जिंदगी बदल दी। पहाड़ों पर साइकिलिंग और रनिंग ने एक खिलाड़ी को अपने सम्मोहन में बांध लिया। नूपुर में एक साल में तीन बार एडवेंचर खेलों में भाग लिया। ग्रुप साइकिलिंग में मनाली से खरदुंगला तक का सफर 9 दिन में पूरा किया। इस राइड में हिस्सा लेने वाली मैं अकेली लडक़ी थी। बाद में नूपुर ने बहुत सी साइकिलिंग और माउंटेन रनिंग रेस में भी हिस्सा लिया। यहीं से नूपुर को द हैल रेस के स्टार्टअप का आइडिया आया।

बीड़ बिलिंग से ‘द हेल रेस’ की पहल

नूपुर सिंह ने जब अपना बिजनेस आइडिया अपने परिजनों से शेयर किया तो वे ज्यादा प्रभावित नहीं हुए। बेशक उन्होंने प्रोत्साहित नहीं किया, लेकिन ऐसा करने से रोका भी नहीं। नूपुर ने अपनी अच्छी खासी जॉब को छोड़ अपने एक साथी विश्वास सिंधू के साथ मिल कर 2016 में हिमाचल प्रदेश के बीड़ बिलिंग में ‘द हेल रेस’ कंपनी की स्थापना की। रोहित कल्याण भी इस कंपनी में तीसरे टीम मेंबर के रूप में जुड़ गए। ‘द हैल रेस’ अलग- अलग दौड़ का आयोजन करती है, जिसमें प्रतियोगियों को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना पड़ता है।

‘द हेल रेस’ के इवेंट्स

नूपुर की कंपनी साल में कई बार माउंटेन साइकिलिंग और रनिंग इवेंट का आयोजन करती हैं। दो सालों में वो अब तक 8 इवेंट का आयोजन कर चुकी हैं। कंपनी मनाली से लेह तक 480 किलोमीटर की दौड़ का आयोजन कर चुकी है। नूपुर खुद बैक टू बैक हाफ मैराथन में भाग ले चुकी है, जिसे 5 दिन में मनाली से लेह हाइवे में पूरा करना था। इस रेस को पूरा करने वाली 10 लोगों की टीम में वो अकेली लडक़ी थीं। बीते साल अप्रैल में आयोजित हॉफ मैराथन में चार सौ प्रतियोगी शामिल हुए। कंपनी के अब तक के इवेंट्स में हजार से ज्यादा प्रतिभागी शामिल हो चुके हैं।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *