निजी गाड़ी को बनाया एम्बुलेंस, सातों रोज चौबीस घंटे कोरोना रोगियों की मदद को हाजिर शाहपुर के कार्णिक उपाध्याय

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

शाहपुर से विनोद भावुक की रिपोर्ट

जो शब्दों की गहराई में उतरते हैं, वे कार्णिक शब्द का अर्थ को अच्छी तरह से जानते हैं, कार्णिक का अर्थ होता है न्यायधीश। यानी कि सबके साथ न्याय करने वाला। कार्णिक नाम वाले व्यक्ति के व्यवहार और व्यक्तित्व में इस गुण को पढ़ा और महसूस किया जा सकता है। कोविड- 19 की आपदा के बीच संकट का सामना करने वाले जरूरतमंदों की मदद के लिए आगे आकर इस कार्णिक ने अपने नाम को सार्थक कर दिया है। कार्णिक उपाध्याय कांगड़ा जिला के शाहपुर के रहने वाले हैं जिन्होंने अपनी गाड़ी को एम्बुलेंस बनाकर सातों रोज चौबीस घंटे कोरोना रोगियों के लिए निशुल्क सेवा का मिशन शुरू हुआ है। शाहपुर और आस – पास को रोगियों के लिए कार्णिक किसी फ़रिश्ते से कम नहीं हैं, जो उस वक्त मदद को आगे आ रहे हैं, जब अपने की अपनों को नजरअंदाज कर रहे हैं। कार्णिक कई जरूरतमंदों को एम्बुलैंस सेवा प्रदान कर चुके हैं।
ऑफिस में जमाया डेरा, पीपीई किट में सर्विस
7 मई से कार्णिक अपने घर नहीं गए हैं। उन्होंने अपने ऑफिस में ही डेरा डाला हुआ है और कोविड नियमों का पालन करते हुए कोविड संक्रमितों के लिए सेवायें उपलब्ध करवा रहे हैं। कार्णिक और उनकी टीम पीपीई किट पहन कर कोविड संक्रमितों के लिए सेवायें प्रदान कर रहे हैं। कार्णिक कोरोना रोगियों के लिए खाने की व्यवस्था भी करवा रहे हैं, जिसके लिए उन्हें स्थानीय रेस्टोरेंट मालिक भी सहयोग कर रहे हैं।
24X7 घंटे मदद के लिए तैयार

कार्णिक उपाध्याय 7 मई से एम्बुलेंस सेवा प्रदान कर रहे है। कार्णिक कहते हैं कि कोरोना संक्रमित मरीज़ों की मदद के लिये 24X7 घंटे उपलब्ध हैं। शाहपुर के आस पास लगते क्षेत्र में जिन मरीजों को समय पर एंबुलेंस नहीं मिल रही है, उनको कार्णिक और उनकी टीम निशुल्क एंबुलेंस सेवा उपलब्ध करवा रही है. मोबाइल नम्बर 9736700005 पर इस एंबुलेंस सेवा प्राप्त की जा सकती है।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *