मुंबई से संजप्रेरक – गेट में इंडिया के टॉप थ्री रैंक में आये मंडी के अभय के सिर से तीन साल की उम्र में साया, मां की तपस्या से सफल हुआ बेटा

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मुंबई से संजय भारद्वाज की रिपोर्ट
ग्रेजुएट एप्टीच्यूड टेस्ट में देश भर में तीसरे स्थान पर रहने वाले मंडी के अभय शर्मा की कामयाबी उनकी मां नूतन की सालों की तपस्या का फल है.अभय के सिर से तीन साल की उम्र में पिता का साया उठ गया,लेकिन उसकी मां ने बेटे का करियर बनाने में कोई कोर कसर नहीं रखी. बेटे ने राष्ट्रिय स्तर की परीक्षा में टॉप कर साबित कर दिया कि मेहनत से ही मुकाम हासिल होता है. जिला मुख्यालय से सटे सन्यारडी गाँव के रहने वाले अभय शर्मा ने गेट की परीक्षा में देश भर में तीसरा स्थान हासिल कर मां के सपनों में रंग भर दिए.

सैकेंड अटेम्ट, दिल्ली से कोचिंग
2017 में भी अभय शर्मा ने गेट पास किया था और 551वां रैंक हासिल करने में कामयाब रहा था. इस रैंक के साथ अभय के वह सपना पूरा नहीं होता जिसे इसलिए बचपन से देख रहा था. उसने फिर से गेट टेस्ट अच्छे रैंक के साथ पास करने के लिए दिल्ली से कोचिंग ली और डट कर पढ़ी की. देश में तीसरा स्थान प्राप्त किया.

करसोग से स्कूलिंग, एनआईटी हमीरपुर से कैमिकल इंजीनियरिंग
अभय की जमा दो तक की पढ़ाई करसोग के एक प्राईवेट स्कूल से हुई. अभय का चयन एनआईटी हमीरपुर के लिए हुआ, जहां से उसने कैमिकल इंजीनियरिंग की. ने कैमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद अभय ने गेट परीक्षा पास करने का लक्ष्य निर्धारित किया और दूरसे चांस में टॉप थ्री में पहुँच गया.

इन्डियन ऑयल में देगा सेवाएं
अभय शर्मा पब्लिक सेक्टर में अपनी से सेवाएं देना चाहता है. उसने केंद सरकार के उपक्रम इंडियन ऑयल में जॉब के लिए अप्लाई भी कर दिया है.अभय अपनी सफलता का श्रेय अपनी माता और परिजनों को देता है, युवाओं के उसका सन्देश है कि लगन से हर लक्ष्य हासिल किया जा सकता है


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *