अब आपके आशियाने के दरवाजे खिडकियां मेंटेन रखेगीं घर का तापमान, आगजनी जैसे खतरे से मिलेगी सुरक्षा, चंबा के युवा पंकज वर्धन का नगरी में स्टार्टअप

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पालमपुर से विनोद भावुक की रिपोर्ट

अब आपके आशियाने के दरवाजे खिडकियां मेंटेन रखेगीं घर का तापमान, आगजनी जैसे खतरे से मिलेगी सुरक्षा. इतना ही नहीं, यह दरवाजे और खिडकियां मेंटेनेंस फ्री होंगे. इन पर कोई रंग रोगन करवाने का भी कोई झंझट नहीं होगा. बरसात के मौसम में पानी पड़ने से ये न तो फूलेंगी और न ही टेड़ी होंगीं. यह सब संभव हो रहा हैं चंबा जिला की भटियात घाटी के 32 साल के युवा उद्यमी पंकज वर्धन के कांगड़ा जिला के नगरी इंडस्ट्रियल एरिया में स्थापित स्टार्टअप ‘वेटा आर्किटेक्चरल’ के चलते. वेटा आर्किटेक्चरल ‘अन प्लसटाइज्ज़ पोलीविनायल कलोरैड्स’ ( युपीवीसी ) के स्लाइडिंग दरवाजे और खिडकियां उपलब्ध करवा रहा है. इस दरवाजे खिडकियों में टफन ग्लास का प्रयोग किया जाता है, जो कि आसानी से टूटता नहीं है और घर के तापमान को बाहरी तापमान से प्रभावित नहीं होने देता, क्योंकि यह पूरा मैटीरियल थर्मल इन्सूलेटेड होता है. यह मैटीरियल एंटी डस्ट और एंटी रस्ट होता है और फायर रिटार्डडेंट होता है.
अन प्लसटाइज्ज़ पोलीविनायल कलोरैड्स
निर्माण में बढ़ती लकड़ी की मांग के चलते धडाधड कटते जंगलों के विकल्प के तौर पर दरवाजे – खिडकियों के निर्माण के दृष्टिगत अन प्लसटाइज्ज़ पोलीविनायल कलोरैड्स की खोज 1908 में जर्मनी में हुई. पिछले कुछ दशक से देश के महानगरों में बनाने वाली आलीशान इमारतों में अन प्लसटाइज्ज़ पोलीविनायल कलोरैड्स के दरवाजे खिडकियां लगवाने का ट्रेंड तेज़ी से बढ़ा. पंकज वर्धन अन प्लसटाइज्ज़ पोलीविनायल कलोरैड्स के दरवाजे खिडकियां हिमाचल में उपलब्ध करवाने वाले पहले उद्यमी हैं. चार साल पहले उन्होंने इस दिशा में अग्रणी रहने के लिए 70 लाख की पूंजी के साथ नगरी इंडस्ट्रियल एरिया फेज 2 में वेटा आर्किटेक्चरल के नाम से अत्याधुनिक प्रोडक्शन हाउस की शुरुआत की.
8 युवाओं को दिया रोजगार
बीबीए, एमबीए की पढाई करने के बाद पंकज ने पांच साल तक चंडीगढ़ में अन प्लसटाइज्ज़ पोलीविनायल कलोरैड्स के एक ब्रांड में बतौर मार्किटिंग एगाजीक्युटिव की जॉब की और इस उद्यम की बारीकियों को सीखा. फिर 27 साल की उम्र में जॉब छोड़ इसी फील्ड में खुद के कारोबार की नींव रखी. हालांकि शुरुआती अनुभव कडवे रहे, लेकिन कड़ी मेहनत से अपने स्टार्टअप को सफल कर दिखाया. वर्तमान में वे आठ लोगों को रोजगार उपलब्ध करवा रहे हैं. पंकज प्रोडक्शन से लेकर मार्केटिंग तक खुद सँभालते हैं.
तेज़ी से बढ़ रहा है क्रेज
पंकज कहते हैं कि ऐसे दरवाजे – खिडकियों के प्रति लोगों का क्रेज बढ़ रहा हैं. अभी तक वे आईआईटी मंडी, पूर्णम माल बिलासपुर, डी पोलो होटल धर्मशाला, ट्रांस होटल धर्मशाला, पुलिस स्टेशन मनाली, रिवर रीट्रीट गगल, ट्रीनिटी हाइट्स, यूनिकॉन हॉलीडेज,और हिमुड़ा के प्रोजेट्स के लिए काम कर चुके हैं. पंकज का कहना है कि जल्द ही वह फैकट्री आउटलेट भी खोलने जा रहे हैं. उनका कहना है कि कंपनी की और से सफ़ेद अन प्लसटाइज्ज़ पोलीविनायल कलोरैड्स दरवाजे – खिडकियों पर दस साल की गारंटी है जबकी शेड वाली शेड वाले अन प्लसटाइज्ज़ पोलीविनायल कलोरैड्स खिड़की – दरवाजों पर बीस साल की गारंटी दी जा रही है.

वेटा आर्किटेक्चरल के मालिक पंकज वर्धन से आप उनके नीचे दिए व्हाट्सअप नम्बरों पर संपर्क कर अपना ऑर्डर प्लेस कर सकते हैं

82197 48459

94186 57164


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *