प्रेरक – बैंक महाप्रबंधक ओपी शर्मा में पानी से बिजली बना किया कमाल, अब मेडिकल कॉलेज के लिए करेंगे देहदान

Spread the love

फोकस हिमाचल, मंडी

मंडी के चौकी चंदराहण गांव के ओपी शर्मा ने मैडिकल कॉलेज नेरचौक को रिसर्च के लिए देहदान करेंगे। ओपी शर्मा हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक से महाप्रबंधक के पद से रिटायर हुए हैं। रिवालसर के समीप स्थित छोटे से गांव चौकी चंदराहण में पैदा हुए ओपी शर्मा ने फौज में 15 साल भारतीय सेना में बतौर हवलदार क्लर्क अपनी सेवाएं दी और फौज से रिटायरमैंट के बाद उन्होंने बैंकिंग क्षेत्र में अपना कैरियर शुरू किया। 31 अगस्त को वे केपीएआरडी बैंक के धर्मशाला स्थित कार्यलय से महाप्रबंधक के तौर पर रिटायरमैंट हुए हैं। अपनी रिटायरमैंट पर उन्होंने देहदान की घोषणा की।

ओपी शर्मा का जन्म 29 अगस्त 1960 में हुआ है। बैंक में महाप्रबंधक रहते हुए उन्होंने कृषि के क्षेत्र में अहम प्रयोग किये। वे चौकीचंदराहण में जैविक खेती के साथ मतस्य पालन में एक प्रगतिशील किसान के तौर पर अपनी खास पहचान बनाने में कामयाब रहे हैं। इतना ही नहीं, अपने गाँव में उन्होंने पानी से बिजली पैदा कर अनूठा प्रयोग किया है।

ओपी शर्मा कहते हैं कि मानव जीवन की बेहतरी के लिए रिसर्च हो सके इसलिए ही उन्होंने मेडिकल कॉलेज नेरचौक को देहदान करने का निर्णय लिया है। सेवानिवृति के बाद वे गौ सेवा, पर्यावरण सरंक्षण, मानव कल्याण व जैविक खेती के लिए काम करना चाहते हैं।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *