प्रेरक – ढलियारा कॉलेज के प्रेजिडेंट रहे देहरा में एडवोकेट अमित राणा बीसीसीआई के नेशनल अम्पायर

Spread the love

जैसा कि बीएम दत्त ने फोकस हिमाचल को बताया
ढलियारा कॉलेज में एससीए प्रेजिडेंट रहे देहरा के एडवोकेट अमित राणा नेशनल क्रिकेट के ऑफिसियल अंपायर हैं। बीते साल क्रिकेट के ऑफिसियल अंपायर (नेशनल) के टेस्ट को क्वालिफाई करने वाले वे हिमाचल प्रदेश के दूसरे युवा बने हैं औरभारत के ऐसे 136 अंपायरों में शामिल हुए हैं। साल 2019 से उन्हें बीसीसीआई का राष्ट्रीय डोमेस्टिक अम्पायर नियुक्त किया गया है। अमित राणा बीसीसीआई के लिए राष्ट्रीय स्तर पर 50 से ज्यादा मैचों की अंपायरिंग कर चुके हैं। अमित राणा ने साल 201 2 में हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के अम्पायरिंग के ओ लेवल को पार किया, साल 2016 में बीसीसीआई के लेवल एक को पास करने के बाद साल 2019 में बीसीसीआई के नेशनल पैनल में शामिल हुए।
अनुराग ठाकुर ने की प्रतिभा की कद्र
अमित राणा कहते हैं कि क्रिकेट अम्पायर इस खेल का सबसे महत्पूर्ण व्यक्ति है। उसे शारीरिक और मानसिक तौर पर फिट रहना पड़ता है और क्रिकेट के नियमों की अपडेट के साथ खेल के मैदान पर समय पर निर्णय लेने की क्षमता बेहद जरूरी है। अमित राणा कहते हैं कि वर्तमान केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री एवं हमीरपुर से सांसद अनुराग ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश में क्रिकेट को नई ऊंचाईयां प्रदान की, जिसके चलते उनके जैसे कई युवा इस खेल में खिलाड़ी बनने के अतिरिक्त खेल से जुड़े अन्य हिस्सों में प्रोफेसनल बनने का मौका पा सके। अमित राणा कहते है कि अनुराग ठाकुर के कहने पर ही वह क्रिकेट की दुनिया में आए हैं और इस मुकाम पर पहुंचने में कामयाब रहे हैं।
गोवा में जन्म, मुंबई से पढ़ाई
अमित राणा का जन्म गोवा में हुआ और आरम्भिक पढ़ाई मुंबई से करने के बाद उन्होंने डीएवी कॉलेज कांगड़ा से जमा दो की पढाई की। उन्होंने ढलियारा कॉलेज से बीकॉम किया। इसी कॉलेज में पढाई के दौरान वे एबीवीपी के सक्रीय सदस्य और पदाधिकारी बने और एससीए चुनाव जीत कर अपनी लोकप्रियता का एहसास करवाया। हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय शिमला के क्षेत्रीय अध्ययन केंद्र धर्मशाला से साल 2005 में वकालत की पढ़ाई करने के बाद वे वकालत करने लगे। वे नगर परिषद देहरा के पार्षद का चुनाव जीत कर अपनी पैठ का भी एहसास करवा चुके हैं।
पिता अधिवक्ता, मां सामजिक कार्यकर्ता
देहरा के भलेहड़ा क्षेत्र से दिग्गज नेता रहे स्वर्गीय कश्मीर सिंह राणा के परिवार से सम्बन्ध रखने वाले अमित राणा के पिता राजिंदर राणा भारतीय नौसेना के रिटायर्ड अफसर एवं देहरा के जाने-माने वरिष्ठ एडवोकेट हैं और उनकी मां चंचला राणा सामाजिक कार्यकर्ता हैं। उनकी पत्नी डॉ. रजनी राणा पेशे से डेंटिस्ट हैं. साईसा राणा और काशवा राणा उनकी दो बेटियां हैं। देहरा क्षेत्र में इस राणा परिवार की खासी सामजिक प्रतिष्ठा है।
(लेखक देहरा के रहने वाले सामजिक कार्यकर्ता हैं। )


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *