‘गुगली गुम है’- धौलाधार की वादियों में गूगली की तलाश, शेमारू एप्प पर फिल्म देख पाएंगे दर्शक, ‘सांझ’ फिल्म से अपनी प्रतिभा की चमक बिखेर चुके हैं निर्देशक अजय के सकलानी

Spread the love

धर्मशाला से संजीव कौशल की रिपोर्ट

हिमाचल प्रदेश के फिल्म निर्देशक अजय के सकलानी की दूसरी फिल्म ‘गुगली गुम है’ आज शेमारू ऐप्प पर रिलीज़ हो गई है। इस फिल्म की शूटिंग धर्मशाला की वादियों में हुई है। फिल्म का ज़्यादातर हिस्सा धौलाधार की पहाड़ियों में लाका ग्लेशियर में फिल्माया गया है, जबकि बाकि की फिल्म धर्मशाला व् आसपास की जगहों पर बनाई गयी है।

फिल्म की कहानी एक प्रेमी जोड़े गुगली और शौर्य पर आधारित है जो धर्मशाला में घूमने आया होता है। पहाड़ों की खूबसूरती को देखकर दोनों ट्रैकिंग पर जाने का निर्णय लेते हैं, परन्तु वे नहीं जानते कि नीचे से खूबसूरत दिखने वाले पहाड़ों में उन्हें किस तरह कि कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। पहाड़ों पर वे फंस जाते हैं, और शौर्य पहाड़ी से निचे गिर जाता है। गुगली उसको निकालने का हर संभव प्रयास करती है। दूसरी तरफ उनका पर्यटक गाइड रंगा उन्हें धर्मशाला में तलाश रहा होता है जिसे उनके ट्रैकिंग पर जाने कि कोई जानकारी नहीं होती।

 

 

 

No description available.

 

 

कहानी उस वक़्त एक नया मोड़ ले लेती है, जब पहाड़ी पर फंसे हुए शौर्य को अपने आसपास किसी और के भी होने का एहसास होता है। पूरी फिल्म इन्ही चारों किरदारों के आसपास घूमती है। गुगली, शौर्य को बचाने और उस तक पानी पहुँचाने का हर संभव प्रयास कर रही है। उनका पर्यटक गाइड रंगा उनकी तलाश में निकला हुआ है और शौर्य पहाड़ी पर अपने आसपास नज़र आने वाले अनजान व्यक्ति की उपस्थिति को समझने का प्रयास कर रहा है।

 

No description available.

 

 

हिमाचल और जम्मू के कलाकारों का शानदार काम

फिल्म में गुगली का किरदार रक्षा कुमावत ने निभाया है, जिसकी एक और फिल्म ‘लॉकडाउन’ इसी साल जून महीने में शेमारू ऐप्प पर ही रिलीज़ हुई है। शौर्य का किरदार मृदुल राज आनंद ने निभाया है, जो जम्मू के रहने वाले हैं और जल्दी ही यशराज बैनर तले बन रही फिल्म पृथ्वीराज में भी नज़र आएंगे। फिल्म में रंगा का किरदार निभाने वाले मोहित मट्टू भारतीय टेलीविजन का जाना मन चेहरा हैं और ज़ी रिश्ते अवार्ड से सम्मानित हो चुके हैं। पहाड़ी पर अनजान व्यक्ति का किरदार निभाया है शिमला के रहने वाले मुकेश लखटा ने। मुकेश हिमाचल में नाटक के क्षेत्र में एक बहुत अच्छे अभिनेता के रूप में जाने जाते हैं। गेयटी थिएटर में कई शो करने वाले मुकेश ने म्यूजिक वीडियो डायरेक्टर के तौर पर भी अपनी एक अलग जगह बनाई है। फिल्म का संगीत सुकुमार दत्ता ने दिया है और गाने मोहित चौहान और शिल्पा सुरोच ने गाये हैं। दोनों ही गायक हिमाचल से सम्बन्ध रखते हैं।

‘सांझ’ फिल्म से चमक दिखा चुके हैं निदेशक अजय के सकलानी

निर्देशक अजय के सकलानी अपनी पहली फिल्म ‘सांझ’ से दर्शकों के दिल में जगह बनाने में कामयाब हुए थे। गौरतलब है कि ‘सांझ’ हिमाचली भाषा में बनी हुई पहली है, जो सिनेमा हॉल में रिलीज़ हुई है।   ‘सांझ’ फिल्म ने देश विदेश में कई सम्मान भी जीते हैं। अब तक सांझ सिनेमा हॉल के अलावा दुनिया भर में बीस से ज़्यादा इंटरनेट प्लेटफार्म और दस टेलीविजन चैनल पर दिखाई जा रही है।

 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *