सीएम स्टार्टअप स्टोरी – ऊना के दीपक के डिजायन किये डिवायस के जरिये कंट्रोल रूम से मॉनीटर होगी ड्राइविंग, जवास्टिका सॉल्यूशन ने विकसित किया जीके-99 डिवाइस, आम घर के युवा की उद्यमी बनाने की प्रेरक कहानी

Spread the love

ऊना से विनोद भावुक की रिपोर्ट
हिमाचल प्रदेश सीएम स्टार्टअप स्कीम ने ऊना जिला के अम्ब निवासी दीपक कुमार के आइडिया को स्टार्टअप तक पहुंचाने और एक साधारण आर्थिक पृष्ठभूमि के एक युवा को उद्यमी बनाने में अहम भूमिका निभाई है। तकनीक के दम पर चालकों की चूक से होने वाले सड़क हादसों को रोकने के लिए दीपक कुमार ऐसे इलेक्ट्रोनिक डिवायस को बनाने की कल्पना कर रहे थे, जिससे कंट्रोल रूम के जरिये न केवल वाहन चलाते चालक की गतिविधियों पर नजर रहे, बल्कि चालक के सीट पर बैठते यह भी पता चल जाए कहीं चालाक नशे की हालत में तो नहीं है। ऊना जिला के अम्ब उपमंडल के कुठीयाड़ी गांव के दीपक कुमार एचपीयू के अम्ब कॉलेज से स्नातक हैं, उन्होंने ने ऐसा इलेक्ट्रोनिक डिवाइस बनाने की परिकल्पना की थी, जिससे सड़क हादसों में कमी आये और वाहन चालकों की कार्यशैली में सुधार हो। दीपक कुमार को यकीन नहीं था कि इतना जल्दी उनका आइडिया स्टार्टअप की शक्ल ले लेगा है।
May be a close-up of 1 person and beard
स्कीम से सिरे चढ़ा स्टार्टअप
अपने इस आइडिया को दीपक कुमार ने हिमाचल प्रदेश सरकार की और से चलाई जा रही एचपी सीएम स्टार्टअप स्कीम के तहत पंजीकृत किया. कुछ दिनों बाद उद्योग निदेशालय शिमला में उनका साक्षात्कार हुआ, जहां उन्होंने एक कमेटी के सामने अपने आइडिया की प्रेजेंटेशन दी और उनके आइडिया को स्कीम के तहत चयनित कर लिया गया। इस स्कीम के तहत उन्हें अपने प्रोटोटाइप को डवलप करने के लिए इन्कुबेशन सेंटर के तौर पर करियर पॉइंट यूनिवर्सिटी पट्टा, हमीरपुर से तकनीकी सहयोग प्रदान किया गया। उद्योग विभाग की ओर से इन्कूबिटी के तौर पर दीपक को एक साल की अवधि तक प्रति माह पच्चीस हजार की आर्थिक मदद प्रदान की गई। तकनीक विकसित करने के बाद दीपक कुमार ने जवास्टिका सॉल्यूशन कंपनी पंजीकृत की है और “जीके-99 डिवाइस’ के ब्रांड नाम से अपने प्रोडक्ट का कमर्शियल प्रोडक्शन शुरू करने वाले हैं। एचपी सीएम स्टार्टअप स्कीम के तहत इसके लिए प्रदेश सरकार की तरफ से दीपक कुमार की कंपनी को 10 लाख रुपये का वित्तीय सहयोग दिया जाएगा है। दीपक अपने इस ड्रीम प्रोजेक्ट के लिए प्रमोटर की तलाश में हैं, ताकि बड़े स्तर पर इस डिवाइस का उत्पादन और विपणन हो।
No photo description available.
जीके-99 डिवाइस के फीचर
जवास्टिका सॉल्यूशन कंपनी का जीके-99 डिवाइस वाहन के डैशबोर्ड पर फिट किया जाता है डिवाइस में लगा कैमरा वाहन चालक की लाइव वीडियो और फोटो कंट्रोल रूम को सेंड करना शुरू कर देता है। जीके-99 डिवाइस जीपीएस तकनीक से लैस है और इसमें एक सिम कार्ड है, जिसका काम वाहन चालक के फोन कॉल करने/ सुनने के लिए मोबाइल फोन हाथ में पकड़ते ही कंट्रोल रूम को अलर्ट एसएमएस व तस्वीरें सेंड करना है। जीके-99 डिवाइस में एल्को सेंसर लगा है, जो वाहन के स्टार्ट करते ही उसके चालक का एल्कोहल परीक्षण कर डिवाइस के जरिये कंट्रोल रूम को रिपोर्ट सेंड करेगा। इस डिवाइस में वार्निंग सायरन भी इंस्टोल किया गया है जो ड्राइविंग करते समय चालक को झपकी आने की सूरत में बज उठेगा। डिवाइस में लगे कैमरे की दिशा बदलने अथवा डिवाइस ऑफ पर भी कण्ट्रोल रूम को सूचना मिलेगी।
May be an image of wrist watch
यातायात प्रबंधन में सुधार से रुकेंगे हादसे
जीके-99 डिवाइस सार्वजनिक परिवहन, ट्रांसपोर्ट कंपनी, स्कूल और कॉलेज के यातायात प्रबंधन में क्रांतिकारी सुधार की क्षमता रखता है। डिवाइस के जरिये कंट्रोल रूम से यातायात को व्यवस्थित किया जा सकता है। इससे वाहन चलाते समय चालाक किसी भी तरह की लापरवाही करने की सूरत में पकड़ा जाएगा, ऐसे में वह हमेशा चौकन्ना रहेगा और नशा कर वाहन चलाने से बचेगा। ऐसे में चालक की लापरवाही से होने वाले सड़क हादसों से बचा जा सकेगा। दीपक कुमार का कहना है कि बीते माह ही उनका इन्कूबेशन पीरियड पूरा हुआ है और इस एक साल में करियर पॉइंट यूनिवर्सिटी, पट्टा, हमीरपुर के तकनीकी सहयोग से अपने प्रोटोटॉप को विभिन्न परीक्षणों के बाद फाइनल प्रोडक्ट बनाने में सफल रहे हैं।
अब व्यवसायिक उत्पादन- विपणन की तैयारी
दीपक कुमार ने फोकस हिमाचल को बताया कि एचपी सीएम स्टार्टअप स्कीम के तहत एक साल के बाद मिलने वाली दस लाख की वितीय मदद के लिए उद्योग विभाग में ऑनलाइन साक्षात्कार हो चुका है और विभागीय कमेटी ने उनके डिवाइस के कमर्शियल प्रोडक्शन से पहले भारतीय प्रोद्योगिक संस्थान मंडी के विशेषज्ञों की राय मांगी है। दीपक कुमार भारतीय प्रोद्योगिक संस्थान मंडी के विशेषज्ञों के सम्मुख अपने डिवायस की प्रेंटेशन दे चुके हैं और जवास्टिका सॉल्यूशन कंपनी के जरिये डिवाइस के व्यवसायिक प्रोडक्शन और मार्केटिंग स्ट्रेटजी बनाने में जुटे हैं। फंड जुटाने वाली कंपनियों की सेवाएं लेकर दीपक कुमार स्टार्टअप में इन्वेस्ट करने वाले निवेशकों की तलाश में जुटे हैं।
————————————————————————
अगर कोई निवेशक दीपक कुमार के स्टार्टअप में निवेशक करना चाहता है तो उनके मोबाइल 98724 79298 पर संपर्क कर सकते हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *