कांगड़ा टी से अनामिका सिंह ने दिल्ली को बना दिया दीवाना, चाय के कारोबार में देश की दूसरी महिला

Spread the love

आनंदिनी हिमालया टी बुटीक का राजधानी में बड़ा नाम,

दिल्ली से प्रकाश फुलारा की रिपोर्ट

बेशक चाय का उनका पारिवारिक कारोबार था, लेकिन सन 1990 में जब अनामिका सिंह ने दिल्ली के शाहपुर जाट क्षेत्र में आनंदिनी हिमाचल टी बुटीक की शुरुआत की थी, तो पुरुष प्रधान भारतीय चाय के कारोबार में वह देश की दूसरी महिला थी। अढ़ाई दशक के अनुभव के बाद अब अनामिका का टी बुटीक चाय के कई फ्लेवर्स निर्यात करता है। यहां करीब दो दर्जन विभिन्न फ्लेवर्स की टी उपलब्ध है। अनामिका का परिवार कांगड़ा चाय के करोबार में जुटा है और चाय फ्रांस, पोलैंड, इंग्लैड, जर्मनी, सिंगापुर आदि में टी एक्सपोर्ट होती है। आनंदिनी हिमालया टी देश के चाय उद्योग में आनंदिनी हिमालया टी बड़ा ब्रांड है।

लंदन, सिडनी के बाद अब न्यूयॉर्क की तैयारी
अनामिका सिंह अपने चाय के कारोबार को लंदन और सिडनी तक ले जाने के बाद अब न्यूयॉर्क तक पहुंचाने की योजना पर काम कर रही हैं। वे अपने कारोबार को ऑनलाइन करने में जुटी हैं ताकि देश-दुनिया में आनंदिनी हिमालया टी के शौकीनों को आसानी से उनके फलेवर की टी उपलब्ध हो सके।

चाय कारोबार में दूसरी महिला

अनामिका ने जब अपने टी बुटीक की शुरुआत की थी तो स्थितियां उनके अनुकूल बिलकुल नहीं थीं। अनामिका सिंह ने टी की खूबियों से शौकिनों को परिचित करवाने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर की शुरुआत की। उन्होंने कई टी फ्लेवर्स चाय के शौकीनों को उपलब्ध करवाए। उन्होंने कहा कि उनका विचार अलग-अलग मिश्रणों में लाने और भारतीय चाय पीने वाला तालू में नया जायजा परिचय करना था। उन्होंने अपने उत्पाद में गुणवत्ता का पूरा ख्याल रखा और अंतरराष्ट्रीय मानकों पर खरा उतरने वाले जैविक उत्पाद बाजार में उतारे।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *