‘स्नो फ़ेस्टिवल’ के आयोजन का एक महीना पूर्ण, शांशा में कार्यक्रम , मुख्यातिथि के रूप मे उपायुक्त पंकज राय ने किया कार्यक्रम का शुभारंभ

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

फोकस ब्यूरो, शांशा
स्नो फ़ेस्टिवल की कड़ी में आज शांशा में आज सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन किया गया।
मुख्यातिथि के रूप में उपायुक्त पंकज राय ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया, यह आयोजन शांशा शगपास ईकोटूरिज्म व लाइव सुर संगम ने संयुक्त रूप से किया।
इस कार्यक्रम के माध्यम से शांशा में 90 वर्ष पूर्व तक आयोजित किए जाने वाले शांगजातर कार्यक्रम को पुनर्जीवित करने का प्रयास किया गया। शुभारंभ पर मुख्यातिथि का पारंपरिक तरीके से स्वागत, सम्मान किया गया। लोक मान्यता है कि नवनाग जिसे शिव का रूप माना जाता है, उसकी शोभा यात्रा रुआलिंग से फूड़ा तथा शांशा से ठोलंग तक निकाली जाती थी। जहां पर भव्य कार्यक्रम का आयोजन हुआ करता था।

शांगजातर की जानकारी देते हुए किशन हंस ने कहा कि स्नो क्राफ्ट की कलाकृतियां, पारम्परिक व्यंजन, वेशभूषा आदि विशेष आकर्षण का केन्द्र रही तथा आयोजन में शांशा के जनता व कर्मचारियों का विशेष योगदान रहा। मुख्यातिथि ने स्नो क्राफ्ट की कलाकृतियों का अवलोकन किया, जिसमें कई कलाकृतियां विशेष आकर्षण का केन्द्र रही।
उपायुक्त पंकज राय ने बताया कि लाहौल- स्पीति से उनका लम्बा सम्बन्ध रहा है। उनके माता- पिता ने सन 76-77 में यहां सेवाएं दी। उपमंडलाधिकारी के रूप में पंकज राय ने यहां सेवाएं दी तथा अब ज़िलाधीश के रूप में लाहौल की खुशहाली के।लिए तत्पर हैं।
राय ने कहा कि स्नो फ़ेस्टिवल देशभर में एक ऐसा उत्सव है जहां कला -संस्कृति, के साथ पर्यटन विकास का भी आधार तैयार हो रहा है।
17,18 फ़रवरी को केलांग में होम स्टे पंजीकरण शिविर लगाया जा रहा है,जिसमें सिंगल विंडो क्लीयरेंस से होम स्टे का पंजीकरण किया जाएगा।

उन्होंने आह्वाहन किया कि जो भी व्यक्ति अपने घर में होम स्टे शुरू करना चाहते हैं वे अपने घर, एक कमरे व टायलेट के एक तस्वीर लेकर अधिक से अधिक संख्या में इस केम्प में आएं। कार्यक्रम में महिला मण्डल शांशा, ठापाक, राशीलने लोकनृत्य; वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय शांशा ने डम्बल नृत्य, कीर्तिंग युवा मंडल ने घूरे गीत तथा शांशा युवक मंडल ने लोक नृत्य प्रस्तुत किया।
रोज़ी शर्मा और पल्लवी शर्मा की प्रस्तुतियों को भी खूब सराहा गया। उपायुक्त राय ने कहा कि स्नो फेस्टिवल को शुरू हुए।लगभग एक महीना हो गया है क्योंकि ज़िले के पहले उत्सव उदन 14 जनवरी को शुरू हुआ था, हालांकि आधिकारिक रूप से यह 25 जनवरी,हिमाचल प्रदेश के पूर्ण राजयत्व की स्वर्णजयंती पर शुरू हुआ था।
इस अवसर परपीओआईटीडीपी रमन शर्मा, जीएम डीआईसी नितिन शर्मा , उपनिदेेशक उच्च शिक्षा सुरजीत राव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *