बहन बनी प्रधान दूसरी बार, भाई ने भी सरपंच कर किया चमत्कार, मझैरना के रिटायर्ड इंस्पेक्टर हुए देशराज की संतानों का रुतबा बरकरार

Spread the love

बहन बनी प्रधान दूसरी बार, भाई ने भी सरपंच कर किया चमत्कार, मझैरना के रिटायर्ड इंस्पेक्टर हुए देशराज की संतानों का रुतबा बरकरार
बैजनाथ से प्रीतम सिंह चम्बियाल की रिपोर्ट
कांगड़ा जिला के बैजनाथ विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाली मझैरना पंचायत के देशराज बीएसएफ से इंस्पेक्टर रिटायर्ड हुए हैं और उनकी पत्नी आशा देवी ग्रहणी हैं। इस दम्पति की तीन संतानों में से दो संतानें अपनी – पंचायतों की प्रधान हैं। हाल ही में आयोजित पंचायती राज चुनाव में देशराज के पुत्र मनजीत कुमार मझैरना पंचायत के प्रधान चुने गए हैं, जबकि उनकी विवाहिता बेटी सोनिका देवी नूरपुर उपमंडल की सुखार पंचायत की लगातार दूसरी बार प्रधान चुनी गई हैं। देशराज कहते हैं कि उनके बच्चे अपनी सामाजिक जिम्मेदारियों का निर्वाह करना बखूबी जानते हैं, यही कारण है कि पंचायतों के बाशिंदों ने उनकी नेतृत्व क्षमता को देखते हुए पंचायतों की सरदारी उन्हें सौंपी है।
सुर्ख़ियों में रही सुखर पंचायत
पंचायत चुनाव से ठीक पहले पंचायत में लीक से हट कर हुए पंचायत कार्यों को लेकर सुखार पंचायत खूब सुर्ख़ियों में रही हैं। पंचायत के विकास कार्यों को लेकर मीडिया में प्रकाशित रपटें सोशल मीडिया पर जम कर वायरल हुई थीं। सोनिका देवी राजनीति शास्त्र में स्नातकोत्तर और बीएड पास हैं। वह लगातार दूसरी बार 500 से अधिक मतों के अंतर से जीतकर सुखार पंचायत की प्रधान बनी है। सोनिका के पति अश्वनी सुखारिया एक जाने- पहचाने समाजसेवी हैं और फतेहपुर में पंचायत इंस्पेक्टर के पद पर कार्यरत हैं। वे अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ के कांगड़ा के अध्यक्ष हैं।
एटीएम इंस्टाल करने वाली कंपनी के मालिक मनजीत
देशराज के पुत्र मनजीत कुमार ने स्नातक तक पढ़ाई की है और एक जाने पहचाने समाजसेवी हैं। मनजीत कुमार अपनी एक कंपनी संचालित करते हैं, जो एटीएम इंस्टाल करने का काम करती है। मनजीत कुमार की न केवल अपनी पंचायत में गहरी पैठ है, बल्कि बैजनाथ के युवाओं में भी अपनी ख़ास पहचान रखते हैं।

Spread the love