हिमाचल प्रदेश का यह गांव है ‘ऑफिसर्स विलेज ऑफ़ इंडिया’, 6 महीने बर्फ के आगोश में रहने वाले लाहुल के ठोलंग का हुनर

Spread the love

हिमाचल प्रदेश का यह गांव है ‘ऑफिसर्स विलेज ऑफ़ इंडिया’, 6 महीने बर्फ के आगोश में रहने वाले लाहुल के ठोलंग का हुनर
केलंग से विनोद भावुक की रिपोर्ट
हिमाचल प्रदेश के इस गांव को को ‘ऑफिसर्स विलेज ऑफ़ इंडिया’ कहा जाता है . 6 महीने बर्फ के आगोश में रहने वाले लाहुल के ठोलंग गांव के हुनर ने देश भर में अपनी ख़ास पहचान बनाई है. विपरीत भौगोलिक परिस्थितियों के बावजूद जिद और जुनून के दम पर कामयाबी की प्रेरक गाथा लिख कर इस गाँव के लोगों में साबित किया है कि इंसानी हौसले और हिम्मत से सफलता का शिखर छूआ जा सकता है. ठोलंग गांव ने अब तक 110 से ज्यादा आईएसएस, आईपीएस, आईआरएस, डॉक्टर, इंजीनियर, हिमाचल सिविल सर्विसिज और सिविल सेवा के कई महत्वपूर्ण पदों पर अधिकारी पर काम करने वाले अधिकारी पैदा किये हैं. यहाँ की प्रतिभा का जादू देश भर में सिर चढ़ कर बोल रहा है.
.
हर घर से अफसर
हिमाचल सरकार के सेवानिवृत चीफ सेक्रेटरी अमरनाथ विद्यार्थी और जम्मू कश्मीर के सेवानिवृत चीफ सेक्रेटरी शाम सिंह कपूर इसी ठोलंग गांव से संबंध रखते हैं. यह गाँव जिला मुख्यालय केलांग से महज दस किलोमीटर दूर है और इसकी जनसंख्या मात्र 300 है. इस गाँव के हर घर से कोई न कोई अधिकारी है.
हर फील्ड में ठोलंग का सिक्का
ठोलग गांव से तीन आईएएस, दो आईपीएस, 7आईआरएस, 14 एमबीबीएस, 16 इंजीनियर्स, 5 पीएचडी, 6आर्मी ऑफिसर हैं. 37 शिक्षा विभाग में, एक फिल्म उद्योग में, 3 फैशन डिजाईनिंग के क्षेत्र में हैं. वहीं 2 पायलट, 2 वेटरीनरी डॉक्टर ,3 आयुर्वेदिक डाक्टर, दो हिमाचल सिविल सर्विसेज, एक डिप्टी डारेक्टर उद्यान विभाग में अपनी सेवाएं दे रहे हैं. लाहौल-स्पीति का पहला एमबीबीएस डॉक्टर प्रेम चन्द भी ठोलंग गांव से सम्बन्ध रखते थे.जो बाद में मुख्य चिकित्सा अधिकारी कुल्लू से सेवानिवृत हुए.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *