हिमाचल के हीरे – पेशे से डाक्टर चंबा के अमित वकील फोटोग्राफी में रच रहे नया इतिहास, देश- विदेश की कई प्रतियोगिताओं पर कब्जा

Spread the love

हिमाचल के हीरे – पेशे से डाक्टर चंबा के अमित वकील फोटोग्राफी में रच रहे नया इतिहास, देश- विदेश की कई प्रतियोगिताओं पर कब्जा
चंबा से मनीष वैद की रिपोर्ट
चंबा के अमित वकील पेशे से एक डॉक्टर है और जुनून से फोटोग्राफर हैं। अमित ने 2008- 2010 के बीच अपने पिता के कैमरे से फोटो खींचने शुरू किए और धीरे-धीरे यह शौक जुनून में बदल गया। वर्ष 2010 में जब अमित ने अपना पहला डीएसएलआर कैमरा खरीदा तो फोटोग्राफी का उन्माद सिर चढ क़र बोलने लगा। तब से अमित अपने कैमरे और लेंस के माध्यम से अविश्वसनीय कहानियां बुन रहे हैं।
अमित ने एक दशक के फोटोग्राफी के सफर में न केवल देश- विदेश में अपनी खास पहचान बनाई है, बल्कि उनके खींचे चित्रों ने देश- विदेश की कई प्रतिष्ठित मैगजीन में जगह पाई है और कई फोटोग्राफी की प्रतिष्ठित प्रतियोगिताओं को अपने नाम किया है।
हुनर से बनाई अपनी पहचान
फोटोग्राफी के क्षेत्र में उनकी पहली पहचान नवंबर 2012 में हुई जब उनकी तस्वीर “बेहतर फोटोग्राफी पत्रिका” में प्रकाशित हुई थी। तब से उन्होंने पीछे मुडक़र नहीं देखा।
बेहतर फोटोग्राफी पत्रिका, एशियाई फोटोग्राफी पत्रिका, स्मार्ट फोटोग्राफी पत्रिका, लोनली प्लैनेट पत्रिका, नेट जियो ट्रैवलर इंडिया और क्रिएटिव इमेज मैगजीन सहित अब तक उनके काम को शीर्ष फोटोग्राफी पत्रिकाओं में से 100 से अधिक बार चित्रित किया जा चुका है। नेशनल ज्योग्राफिक के “योर शॉट” में अमित केकई कामों को मान्यता दी है।
प्रतियोगिताओं में दिखी चमक
फोटोग्राफी की यात्रा के दौरान उन्होंने कई पुरस्कार जीते हैं। 2013 में थीम वॉटर पर उनकी तस्वीर 22 मार्च 2013 को विश्व जल दिवस पर “सिल्वर नाइट्रेट आर्ट” द्वारा आयोजित एक फोटोग्राफी प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार से सम्मानित की गई। अप्रैल 2014 में बिंग द्वारा आयोजित “माइक्रो, मैक्रो, फ्लोरा एंड फोना’ थीम के तहत उनकी खींची तस्वीर ‘ओस की बूंद’ को प्रथम पुरस्कार मिला। फ्यूचर फ़ॉर्वर्ड, 2015 के सहयोग से “इमोशन्स” थीम पर आधारित “मणिपुर फ़ोटोग्राफ़ी कॉन्टेस्ट” में अमित को प्रथम पुरस्कार से सम्मानित किया गया।
मकाओ की असाइनमेन्ट, मुंबई में एग्जीविशन
2016 में “नेट जियो ट्रैवलर इंडिया” द्वारा आयोजित “कलर्स ऑफ़ मकाओ” फ़ोटोग्राफ़ी प्रतियोगिता में नंदगांव की होली की एक तस्वीर के लिए प्रतियोगिता का विजेता घोषित किया गया। इसके बाद अमित नेट जियो के आधिकारिक फोटोग्राफर और लेखक के तौर पर फोटोग्राफी असाइनमेंट के लिए मकाओ गए। उनके चयनित चित्रों को नेट जियो ट्रैवलर इंडिया द्वारा मुंबई में एक प्रदर्शनी में प्रदर्शित किया गया।
राष्ट्रीय फोटोग्राफी प्रतियोगिता के विजेता
2017-18 में “एशियन फोटोग्राफी मैगज़ीन” द्वारा ब्लैक एंड व्हाइट थीम के तहत आयोजित प्रतिष्ठित “आर्टिस्टिक” फोटोग्राफी में गुर्जर समुदाय की जीवन शैली को दर्शाते चित्र ने अमित को प्रतियेागिता का विजेता बना दिया। जनवरी 2018 में “ट्राइबल कस्टम्स एंड हेरिटेज” थीम के तहत “7 वीं राष्ट्रीय फोटोग्राफी प्रतियोगिता” जीतने पर अमित को भारत के जनजातीय मामलों के मंत्री, श्री जुएल ओराम ने प्रथम पुरस्कार प्रदान किया।
श्रीलंका का सफर
मार्च 2019 में नेशनल जियोग्राफी ट्रैवलर इंडिया और वीवो के साथ फोटोग्राफी असाइनमेंट के अमित श्रीलंका गए।
और मई 2019 में गुजरात पर्यटन के साथ एक फोटोग्राफी असाइनमेंट के लिए गुजरात गए। हिमाचल प्रदेश के पर्यटन विभाग के वर्ष 2020 के डेस्क कलेंडर में उनके दो फोटो को जगह मिली है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *