हिमाचल के सैन्य अधिकारी कमल हैं कमाल के चित्रकार, रंगों से रच दिया चित्रकला का नया संसार

Spread the love

हिमाचल के सैन्य अधिकारी कमल हैं कमाल के चित्रकार, रंगों से रच दिया चित्रकला का नया संसार
बैजनाथ से विनोद भावुक की रिपोर्ट
कांगड़ा जिला के बैजनाथ उपमंडल के नागन गांव के कमल कुमार अर्ध सैनिक बल में सैन्य अधिकारी हैं। 15 साल पहले उन्होंने राष्ट्रीय स्तर की भर्ती परीक्षा में प्रथम स्थान हासिल कर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाया था।
अर्ध सैनिक बल की व्यस्तता व जोखिम के बावजूद कमल कुमार ने अपने चित्रकारी के शौक को नई उड़ान दी है। वे कमाल के चित्रकार हैं।
उन्होंने रंगों से ऐसे संसार की रचना की है, जहां चित्र बोलते से प्रतीत होते हैं।
उनके बनाए पोर्टेट, स्कैच, लैंडस्केप एक सधे हुए चित्रकार के रचनाकर्म की गवाही देते हैं।
हैरानी की बात यह है कि कमल ने न तो चित्रकला की कोई पढ़ाई की है और न ही किसी से प्रशिक्षण लिया है।
कमल कुमार बताते हैं कि एक धुन थी रंगों से खेलने की बचपन से। साल 2018 में हाथ आजमाना शुरू किया।
रंगों से खेलने में आनंद आने लगा और चित्रकारी का सिलसिला चल निकला।
कमल कुमार न केवल खुद बेहतरीन कलाकृतियां बना रहे हैं,
बल्कि हिमाचल प्रदेश के चित्रकारों के हुनर को आनलाइन आर्ट हंट प्रतियोगिता के माध्यम से प्लेटफार्म प्रदान कर रहे हैं।
काम को सम्मान
कमल कुमार को चित्रकला में उनके काम के लिए कई पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।
उन्हें इंडिया स्टार रिपब्लिक अवार्ड 2020, देव भूमि हिम हिमाचल शिखर सम्मान 2019, इंडिया स्टार प्राउड अवार्ड 2019, एक्स्ट्रा आर्डिनरी टैलेंट अवार्ड 2019 आई.टी.बी.पी से प्रतिक चिन्ह 2019, भारत योग अवार्ड 2019 और कनाडा के सांसद सुख ढालीवाल के हाथों हिम एचीवर अवार्ड 2019 सम्मान मिल चुके हैं।
उच्च शिक्षित हैं कमल
कमल कुमार ने स्कूली पढ़ाई केंद्रीय विद्यालय पठानकोट में करने के बाद कमल ने गवर्नमेंट पॉलीटेक्नीकल कॉलेज हमीरपुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है।
उन्होंने एआईटीएमएस देहरादून से उच्च शिक्षा हासिल करने के बाद ह्यूमन रिर्सोसेस एंड ऑपरेशनल मेनेजमेंट की डिग्री ली है।
उन्होंंने कर्नाटक युनिवर्सिटी से एम टेक स्ट्रक्चर और माया अकेडमी से एडवांस सिनेमोटिक की पढ़ाई की है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *