स्टार्टअप स्टोरी –फ्लोर मिल के आटे को टाटा, आपके घर पर पहुंचेगा घराट का फ्रेश आटा, चंडीगढ़ का ‘घराट फ्रेश’- उपभोगता की किचन में घराट का आटा पहुंचाने का स्टार्टअप

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

स्टार्टअप स्टोरी –फ्लोर मिल के आटे को टाटा, आपके घर पर पहुंचेगा घराट का फ्रेश आटा, चंडीगढ़ का ‘घराट फ्रेश’- उपभोगता की किचन में घराट का आटा पहुंचाने का स्टार्टअप
चंडीगढ़ से विनोद भावुक की रिपोर्ट
चलो आज चंडीगढ़ के तीन दोस्तों विकास सिंघला, अनुज सैनी और नितिन शर्मा के स्टार्टअप के बारे में जानकारी हासिल करते हैं. यह तीनों दोस्त हरियाणा, पंजाब और हिमाचल प्रदेश के उपभोगताओं के लिए घराट का पिसा हुआ फ्रेश आटा उपलब्ध करवा रहे हैं। चंडीगढ़, पंचकूला और मोहाली के क्लाइंट्स के लिए आटे की होम डिलीवरी सर्विस उपलब्ध है और जल्द ही पंजाब, हरियाणा और हिमाचल के अन्य शहरों में भी होम डिलीवरी की तैयारी चल रही है। घराट फ्रेश की पैकेजिंग चंडीगढ़ में की जाती है। बता दें कि घराट में पिसा आटा बहुत नरम, महीन और स्वास्थ्यवर्धक होता है, यही कारण है कि घराट फ्रेश के उत्पादों के लिए खासी डिमांड है।
घराटों का जीर्णोद्वार, लोगों को रोजगार
तीन दोस्तों के इस स्टार्टअप की की ख़ास बात यह है कि इसका मिशन आटा पिसाई के लिए घराटों के जीर्णोद्वार के साथ स्थानीय लोगों को रोजगार उपलब्ध करवाना भी है। अपने स्टार्टअप के लिए इस दोस्तों ने हिमाचल प्रदेश और हरियाणा पर फोकस किया और ऐसे घराटों की पहचान करनी शुरू की जो विभिन्न कारणों से बंद पड़े थे। स्टार्टअप शुरू करने के लिए ऐसे घराट मालिकों की पहचान करने की प्रक्रिया जून 2020 के अंत तक शुरू हुई और तीन महीने के भीतर पूरी हो गई। इस तिकड़ी ने पाँच घराटों को पुनर्जीवित किया। जिनमें तीन सोलन के परवाणू और दो हरियाणा के भादी शहर और मदीना में स्थित हैं। इस टीम ने घराट मालिकों के साथ अनुबंध किये, जिसके तहत घराट की मरम्मत, कच्चा माल उपलब्ध कराने और पिसाई करने के लिए उन्हें मासिक वेतन देने के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की गई। तीन दोस्तों की इस टीम ने अभी तक ऐसे 20 घराटों की पहचान की है जिन्हें पुनर्जीवित करने पर काम करेंगे।
खोई हुई परम्पराओं को जिंदा करने की पहल
अंग्रेजों के समय से पानी से चलने वाले घराटों का उपयोग किया जाता रहा है, पर अब घराट न के बराबर बचे हैं। घराट गेहूं और मक्की की पिसाई के अतिरिक्त मसालों की पिसाई का काम भी करते हैं। घराट फ्रेश आटा उपलब्ध करवाने का यह स्टार्टअप घराट की खोई हुई परंपराओं को फिर से जिन्दा करने की अनूठी पहल है, जिसके चलते ग्रामीण स्तर पर पिसाई का काम करने वालों के लिए रोजगार और सतत आजीविका के अवसर उपलब्ध हो रहे हैं। यह तिकड़ी अपने कारोबार को विस्तार देने की योजनाओं पर काम कर रही है, जो घराट मालिकों के लिए एक सुखद समाचार है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *