सेल्फ मोटिवेशन से पशु चिकित्सक पहले बीडीओ बने, फिर स्टेट टेक्स एंड एक्साइज के एडिशनल कमिश्नर, बड़सर के प्रतिभावान नवजोत शर्मा की प्रेरककथा

Spread the love

सेल्फ मोटिवेशन से पशु चिकित्सक पहले बीडीओ बने, फिर स्टेट टेक्स एंड एक्साइज के एडिशनल कमिश्नर, बड़सर के प्रतिभावान नवजोत शर्मा की प्रेरककथा
धर्मशाला से संजीव कौशल की रिपोर्ट
आज की प्रेरककथा के नायक हैं, हमीरपुर जिला के बड़सर क्षेत्र के हारमा गांव के नवजोत शर्मा। वेटनरी साइंस में स्नातकोत्तर कर पीएचडी में एडमिशन लेने वाले पशु चिकित्सक नवजोत शर्मा सेल्फ मोटिवेशन से पहले बीडीओ बने और जॉब के साथ प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर स्टेट टेक्स एंड एक्साइज के एडिशनल कमिश्नर बन अपने हुनर का लोहा मनवाया। घुमारवीं के बीडीओ रहे नवजोत शर्मा वर्तमान में रेवन्यू डिस्ट्रिक कांगड़ा में स्टेट टेक्स एंड एक्साइज के एडिशनल कमिश्नर के पद पर तैनात हैं। अपने आत्मविश्वास से अपनी मंजिल हासिल करने वाले इस युवा अधिकारी की कामयाबी की कथा बेहद रोचक है।
गांव के हुनर की चमक
आयुर्वेदिक चिकित्सक हरी चंद शर्मा के घर 24 फरवरी 1988 को जन्मे नवजोत की दसवीं तक की पढ़ाई बाबा बालक नाथ पब्लिक स्कूल चकमोह में हुई और उसके बाद उन्होंने मेडिकल स्ट्रीम में एवीएम पब्लिक स्कूल हमीरपुर से जमा दो की परीक्षा पास की। साल 2012 में चौधरी सरवण कुमार कृषि विश्वविद्यालय पालमपुर से वेटनरी साइंस में बीएससी करने के बाद 2014 में वेटनरी साइंस में एमएससी की परीक्षा पास की और पीएचडी के लिए उनका चयन वेटनरी रिसर्च इंस्टिट्यूट बरेली के लिए हुआ।
पहले बीडीओ फिर एक्साइज के एडिशनल कमिश्नर
नवजोत शर्मा पीएचडी पूरी कर पाते इस बीच दिसंबर 2015 में अलाइड परीक्षा पास कर उनका चयन बीडीओ पद पर हो गया। जून 2017 तक वह घुमारवी विकास खंड में बीडीओ के पद पर रहे। इस बीच साल 2016 में उन्होंने हिमाचल प्रदेश प्रशासनिक सेवा परीक्षा पास की और उनका चयन हिमाचल प्रदेश रेवन्यू सर्विस के लिए हुआ। ट्रेनिंग के बाद साल 2019 में उन्हें राजस्व जिला कांगड़ा के मुख्यालय धर्मशाला में स्टेट टेक्स एंड एक्साइज के एडिशनल कमिश्नर के पद पर तैनाती मिली।
बेस्ट परफोर्मर ऑफिसर
नवजोत शर्मा की गिनती विभाग के होनहार और प्रतिभावान अधिकारी के तौर पर होती है। वे होटल एवं सर्विस सेक्टर के एक्सपर्ट हैं और टेक्स कलेक्शन में शत- प्रतिशत ग्रोथ का रिकॉर्ड उनके नाम है। नवजोत शर्मा उन युवा अधिकारियों में शामिल हैं, जो हमेशा सकारात्मक सोच के साथ काम करते हैं। हसमुख अधिकारी नवजोत शर्मा मोटिवेटर के रूप में भी अपनी ख़ास पहचान रखते हैं स्पोर्ट्स के प्रति समर्पित हैं।
फिजिकल फिटनेस है प्राथमिकता
नवजोत के पिता सेवानिवृत आयुवेदिक चिकित्सक हैं, जबकि माता गृहणी हैं। उनके बड़े भाई नवदीप शर्मा सीएसआईआर में वैज्ञानिक हैं। नवजोत की शादी करसोग की नेहा चौहान से हुई है, जो वर्तमान में उद्योग विभाग धर्मशाला में उद्योग प्रबंधक के पद पर कार्यरत है। स्कूल और कॉलेज के दिनों से ही नवजोत शर्मा पढ़ाई के साथ खेल के मैदान में भी उभरते हुए खिलाड़ी रहे हैं और वर्तमान में भी शरीर की फिटनेस को लेकर गंभीर हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *