सीएम स्टार्टअप : इम्युनिटी बूस्टर है सलूणी के रियाज की बनाई हर्बल वाइन, लोकल लेबल पर बनने वाली ध्रुब्बली के गहन अध्ययन के बाद अपने आइडिया में पाई कामयाबी

Spread the love

 

सीएम स्टार्टअप : इम्युनिटी बूस्टर है सलूणी के रियाज की बनाई हर्बल वाइन, लोकल लेबल पर बनने वाली ध्रुब्बली के गहन अध्ययन के बाद अपने आइडिया में पाई कामयाबी

जोगिंद्रनगर से सत्य प्रकाश की रिपोर्ट
हिमाचल प्रदेश के चंबा जिला के निवासी रियाज मोहम्मद ने मुख्यमंत्री स्टार्टअप स्कीम के तहत जड़ी बूटियों एवं औषधीय पौधों से एक हर्बल वाईन तैयार करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है। रियाज मोहम्मद जल्द ही अपने इस तैयार उत्पाद को मार्किट में उतारने की तैयारी कर रहे हैं। कोरोना महामारी के इस कठिन दौर में यह हर्बल वाईन एक इम्युनिटी बूस्टर का भी काम करेगी। भारतीय चिकित्सा पद्धति अनुसंधान संस्थान जोगिंद्रनगर में राष्ट्रीय औषध पादप बोर्ड के क्षेत्रीय एवं सुगमता केंद्र जोगिंद्रनगर में आयुर्वेद एवं औषधीय जड़ी बूटियों पर आधारित नवोन्वेषी विचार एवं शोध के लिए सीएम स्टार्टअप स्कीम के तहत इंक्यूबेशन केंद्र बनाया गया है। इस केंद्र के सहयोग से चंबा के रियाज मोहम्मद ने शोध तथा सीएम स्टार्टअप स्कीम की आर्थिक मदद से हर्बल वाईन को तैयार करने में कामयाबी हासिल की है।

इम्युनिटी बूस्टर है वाइन
पूरी तरह से प्राकृतिक एवं औषधीय पौधों व जड़ी बूटियों से तैयार यह हर्बल वाईन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का भी काम करेगी। इस हर्बल वाईन का विभिन्न विश्वविद्यालयों एवं शोध संस्थानों में वैज्ञानिक विश्लेषण भी पूरा कर लिया गया है तथा शेष अन्य औपचारिकताओं के पूर्ण होते ही अब यह लोगों को उपलब्ध होने वाली है। इंक्युबेटर रियाज बताते हैं कि मुख्यमंत्री स्टार्टअप स्कीम की आर्थिक मदद से वे अपने इस हर्बल प्रोडक्ट को तैयार करने में कामयाब हो पाए हैं। रियाज ने बताया कि जड़ी-बूटियों पर आधारित पारिवारिक कारोबार के चलते उन्होने आयुर्वेद एवं जड़ी-बूटियों पर आधारित शोध कार्य का निर्णय लिया है जिसमें सीएम स्टार्टअप स्कीम के सहयोग से वे कामयाब हो पाए हैं।

लीवर- हर्ट के लिए टॉनिक
रियाज ने बताया कि आयुर्वेद में आसव आरिष्ट तथा सूरा पर आधारित उत्पाद का जिक्र है, जो न केवल लीवर को मजबूत बनाते हैं बल्कि शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाने का काम करते हैं। पश्चिमी देशों के शोध में सूरा को हर्ट के लिए भी बेहतर बताया गया है। आयुर्वेद में आसव आरिष्ट तथा क्षेत्रीय स्तर पर ग्रामीणों द्वारा तैयार की जाने वाली सूरा या ध्रुब्बली के गहन अध्ययन के बाद इस हर्बल वाईन को तैयार किया गया है। इस हर्बल वाईन का नाम सार्इंस रखा है और यह शारीरिक व मानसिक तौर पर स्वस्थ रखने का काम करेगी। वाईन में अनाज व फलों के एक्सटेक्ट के साथ-साथ विभिन्न जड़ी बूटियों के मिश्रण को शामिल किया गया है।

पीयू में रिसर्च पर मुहर
आयुर्वेद एवं औषधीय जड़ी बूटियों पर सीएम स्टार्टअप स्कीम के तहत इंक्यूबेशन केंद्र के क्षेत्रीय निदेशक डॉ. अरूण चंदन कहते हैं कि रियाज मोहम्मद ने हर्बल वाईन तैयार करने में कामयाबी हासिल कर ली है। पीयू चंडीगढ़ व अन्य संस्थानों ने वैज्ञानिक विश्लेषण पूरा कर लिया गया है।

सलूणी के लाल का कमाल
रियाज चंबा जिला के सलूणी के रहने वाले हैं रियाज ने माइक्रोबायोलॉजी में है स्नातकोत्तर किया है। 31 वर्षीय रियाज मोहम्मद की प्रारंभिक शिक्षा जवाहर नवोदय विद्यालय चंबा से हुई है। उन्होंने पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ से माइक्रोबायोलॉजी में बीएससी व एमएससी आॅनर्स की डिग्री प्राप्त की है। उन्होंने 9 माह तक चंबा मेडिकल कॉलेज में भी पढ़ाया है। रियाज का कहना है कि प्रदेश सरकार की मुख्यमंत्री स्टार्टअप स्कीम उनके जैसे नवोन्वेषी विचार एवं शोध कार्य के माध्यम से उद्यम स्थापित करने वाले युवाओं के लिए मददगार साबित हो रही है। इस योजना के माध्यम से न केवल उन्हे आर्थिक तौर पर सरकार सहायता दे रही है बल्कि उनके नवोन्वेषी विचार से तैयार उत्पाद को एक मुकाम भी प्रदान कर रही है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *