समाजसेवा में पेश की मिसाल, राजनीति में कर रहीं कमाल, कांगड़ा जिला भाजयुमो की उपाध्यक्ष बैजनाथ की रविता भारद्वाज की प्रेरककथा

Spread the love

 

समाजसेवा में पेश की मिसाल, राजनीति में कर रहीं कमाल, कांगड़ा जिला भाजयुमो की उपाध्यक्ष बैजनाथ की रविता भारद्वाज की प्रेरककथा

 

बैजनाथ से प्रीतम सिंह की रिपोर्ट

 

कांगड़ा जिला के बैजनाथ उपमंडल की मंडेहढ पंचायत की रविता भारद्वाज जहां समाजसेवा के क्षेत्र में जुट कर जरूरतमंदों के लिए मददगार बनीं हैं, वहीं राजनीति में उतरकर जनता की आवाज बनीं हैं। कॉलेज के दिनों से ही राजनीति और समाजसेवा में सक्रिय रहीं रविता भारद्वाज गद्दी- सिप्पी उत्थान संस्था और ईडन रोज फाउंडेशन जैसी सामाजिक संस्थाओं से जुड़कर सामाजिक – आर्थिक बदलाव की दिशा में बेहतरीन प्रयास कर रहीं हैं, वहीं भाजपा के युवा संगठन भाजयुमो की कांगड़ा जिला उपाध्यक्ष के तौर पर अपनी नेतृत्व क्षमता से संगठन को मजबूत करने में जुटी हैं। कोविडकाल के दौरान हुए लोकडाउन के दौरान रविता ने कोरोना वारियर के तौर पर अहम भूमिका अदा की है। कॉर्पोरेट सेक्टर में स्थापित प्रोफेसनल पति देश राज ने रविता की खूबियों को पहचाना और एक मेंटर की तरह समाजसेवा और राजनीति में आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। पढ़िए, अपनी प्रतिभा के दम पर एक छोटे से गांव की बेटी की ऊँची परवाज की नायिका रविता भारद्वाज के अब तक के जीवन सफर की प्रेरककथा।

 

स्कॉलरशिप जीत कर हासिल की उच्च शिक्षा

 

चंबा जिला की सिहुंता तहसील के द्र्मण डाकघर के हटली गांव में धनी राम और निर्मला देवी की दूसरी संतान के रूप में 28 मार्च 1982 को पैदा हुई रविता भारद्वाज स्कूली स्तर से ही  एक मेधावी स्टूडेंट रहीं और स्कूल और कॉलेज की शिक्षा के लिए स्कालरशिप प्राप्त की। उन्होंने डिग्री कॉलेज धर्मशाला से वर्ष 2003 में बीए करने के बाद साल 2005 में हिस्ट्री में एमए किया और साल 2007 में हिमाचल प्रदेश विश्वविद्यालय से बीएड की डिग्री ली। कॉलेज के दिनों से ही वे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् की एक्टिव मेम्बर रहीं और कॉलेज की कैलाश एसोशियेशन में सक्रीय भूमिका अदा की।

 

प्रतिष्ठित परिवार की बहू

 

साल 2004 में रविता की शादी कांगड़ा जिला के बैजनाथ उपमंडल के संसाल क्षेत्र की मढ़ेहड़ पंचायत के प्रतिष्ठित परिवार रिटायर्ड मेजर प्रेम चंद के कॉर्पोरेट सेक्टर में बड़े पोस्ट पर तैनात बेटे देश राज के साथ हुई। बतौर आईटी प्रोफेसनल कई देशों में सेवायें प्रदान कर चुके देश राज वर्तमान में नोयडा स्थित ओरेकल कम्पनी के आईटी हैड हैं। इस दम्पती के तीन बच्चे कनन भारद्वाज, दृष्टि भरद्वाज और धैर्य भारद्वाज स्कूली स्टूडेंट्स हैं। रविता के एक देवर शेष राज पेशे से शिक्षक हैं वहीँ दूसरे देवर राजेन्द्र कुमार एलजी कंपनी नोयडा में महाप्रबंधक हैं। रविता की सास मीना देवी पिछले 15 साल से महिला मंडल की प्रधान हैं और भाजपा महिला मोर्चा बैजनाथ की सचिव हैं।

 

बेटी पर मां का गहरा प्रभाव

 

रविता की माता निर्मला देवी रिटायर्ड बैंकर हैं, जबकि पिता धनी राम प्रगतिशील किसान हैं। रविता के बड़े भाई राजीव कुमार की सात साल पहले सोलन में एक सड़क हादसे मेंमौत हो गई थी, जबकि उनकी भाभी रेखा देवी एचपी वूल फेडरेशन में जॉब करती हैं। रविता की छोटी बहन रंजना भारद्वाज दुनेरा स्थित सुखजिन्द्रा कॉलेज में फार्मेसी डिपार्टमेंट की हेड हैं। रविता के जीवन पर उनकी माता का गहरा प्रभाव है, जिन्होंने उसे उच्च शिक्षा हासिल करने के साथ मदद और नेतृत्व करने के गुर भी दिए हैं।

 

गुडगांव से कांगड़ा तक सफर

 

रविता भारद्वाज ने साल 2014 में गुडगाँव से भाजपा की सक्रिय राजनीति में भाग लेना शुरू किया और गुडगाँव भाजपा की कार्यकारिणी सदस्य रहीं। वे हिमाचल प्रदेश की गद्दी- सिप्पी उत्थान संस्था से जुड़कर इन वर्गों के लिए लगातार काम करती रहीं। वर्तमान में वें इस संस्था की प्रदेश उपाध्यक्ष और कांगड़ा- चंबा क्षेत्र की प्रभारी हैं। उन्होंने 8 साल पंजाब नेशनल बैंक में लोन एंड इंसोरेंस मैनेजर के तौर पर भी काम किया है। गुडगाँव में वे इंग्लिश लर्निंग हब का गठन कर गरीब बच्चों को निशुल्क शिक्षा प्रदान करने में प्रयासरत रहीं हैं। साल 2019 से वे भाजयुमो कांगड़ा की जिला उपाध्यक्ष हैं। वे समाजसेवा में जुटी संस्था ईडन रोज फाउंडेशन की भी वायस चेयरमैन हैं।

 

 

 

 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *