शादी करवाने का स्टार्टअप – नगरोटा बगवां के आईटी प्रोफेशन सतीश मलांच की ‘ हिमाचली रिश्ता’ ने बसाए कई घर

Spread the love

शादी करवाने का स्टार्टअप – नगरोटा बगवां के आईटी प्रोफेशन सतीश मलांच की ‘ हिमाचली रिश्ता’ ने बसाए कई घर
छोटे से गाँव के हुनर की ऊँची उड़ान, अब एंड्राइड एप गूगल प्ले स्टोर से किया जा सकता है डाउनलोड, इस स्टार्टअप के लिए मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के हाथों मिला है ‘फोकस हिमाचल सम्मान 2018’
नगरोटा बगवां से विनोद भावुक की रिपोर्ट
‘देश और विदेश कि बड़ी बड़ी मैट्रीमोनियल वेबसाइटस भारत के विभिन्न भागों में शादी के लिए रिश्ते ढूँढने के नाम पर रोज के हजारों डॉलर कमा कर विदेश ले जा रही है। जब विदेशी कम्पनियां ऐसा कर सकती हैं तो हम ऐसा क्यों नहीं कर सकते। बस इसी आईडिया से सतीश मलांच को ‘ हिमाचली रिश्ता’ के स्टार्टअप के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया। हिमाचल प्रदेश के लोगों की जरूरत के हिसाब ने पहली बार एक ऑनलाइन मैट्रीमोनियल पोर्टल की शुरुआत की कहानी बेहद रोचक और प्रेरक है। हिमाचली रिश्ता’ में रजिस्टर कर आप अपने परिवार में किसी भी सदस्य के लिए अच्छा रिश्ता ढूंढ सकते है।इसका एंड्राइड एप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। ‘हिमाचली रिश्ता’ को उसकी टीम नगरोटा बगवां से संचालित करती हैI लोगों की सुविधा के लिए एक हेल्पडेस्क नंबर 9459143712 भी है, जिसे काँगड़ा से ही संचालित किया जाता है।
कई देसी- विदेशी आईटी प्रोजेक्ट लीड कर चुके सतीश
सतीश कुमार मलांच कांगड़ा जिला के नगरोटा बगवां के पठियार गांव के बेहद साधारण किसान परिवार से सम्बन्ध रखते हैं और दिल्ली में एक बहुराष्टीय कंपनी में Information Security Manager रहे हैं । वे  देश- विदेश के कई IT प्रोजेक्ट लीड कर चुके हैं। प्रोफसनल जिन्दगी के अलावा वे दिल्ली में हिमाचल प्रदेश की कई सभाओ के सदस्य हैं और नियमित रूप से समाजिक कार्यो में भाग लेते है ।
ऐसे आया घर बसाने का आइडिया
विदेशी कम्पनियों के लिए कई प्रोजेक्ट करने के बावजूद सतीश हमेशा से यही सोचते थे कि हिमाचल के लिए कुछ किया जाये, कुछ ऐसा जिसमे सामाजिक कार्य भी हो ,आमदनी भी हो, नाम भी और लोग दुआए भी दें । वे कहते हैं कि दिल्ली में हिमाचल के समुदाय की ओर से आयोजित होने वाले समांरोहों में अक्सर आना जाना रहता था। ऐसे ही एक समारोह में एक स्टाल पर बहुत लोगो का हजूम लगा हुआ था। कमेटी वाले रजिस्टर पर लड़की और लड़के वालो के नाम पते लिख रहे थे । इस कवायद की वजह अपने बच्चों के लिए उचित वर ढूंढना थी।
दोस्तों को पसंद आया आईडिया, दिल से की मदद
सतीश के दिमाग में एक बड़ी मैट्रीमोनियल सेवा का ध्यान आया, जिसमे कभी खुद का प्रोफाइल बनाया था।अपने दोस्त पवन राजपूत से अपना आइडिया शेयर किया । हिमाचल प्रदेश में ही ‘हिमाचल ओन कॉल’ नाम से एक ऑनलाइन येल्लो पेज पोर्टल चला रहे एक दूसरे मित्र से भी सलाह मशविरा किया। दोस्तों को आईडिया पसंद आया और हर सहायता का आश्वाशन दिया।
सेल्फ हेल्प पोर्टल
सतीश कहते हैं कि उनके घर वालों ने थोडा न नुकर की ।  उनको लगता था कि इसमें अगर किसी का रिश्ता न हो पाए तो लोग सर चढ़ जाते हैं। इस काम में दूसरों कि भलाई सोचते सोचते खुद के दूसरों की नजरो में बुरा बनने की भी आशंकाएं है। परिजनों की बात जायज थी, इसलिए वेबसाइट को एक सेल्फ हेल्प पोर्टल बनाए , जिसमे खुद रजिस्टर करे और खुद ही सर्च करें ।एक लिमिट तक यह वेबसाइट बिलकुल फ्री है।
तीन महीनों की मेहनत के बाद लाइव
इस विषय में डिटेल्ड स्टडी और रिसर्च के बाद तीन महीनों की कड़ी मेहनत के बाद 26 जून 2015 को हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम (www.himachalirishta.com) को लाइव कर दिया और उसके 10 दिन बाद रिश्ता पंजाबी डॉट कॉम को शुरू कर दिया। आज सतीश अपने इस स्टार्टअप के जरिये 15 से ज्यादा युवाओं को नगरोटा बगवां जैसे से कस्बे में रोजगार प्रदान कर रहे हैं।
सोशल मीडिया पर मार्केटिंग
सतीश बताते हैं कि वेबसाइट को डेवेलप उनके दोस्तों पवन राजपूत और सी वी शुक्ला का बहुत सहयोग रहा और पूरे प्रोजेक्ट में दोस्तों ने रात- दिन मेहनत की। वेबसाइट को हिमाचल के लोगों तक पहुचना था , इसलिए सोशल मीडिया को चुना। सतीश के करीबी मित्र अमर जो कि एक दिग्गज ऑनलाइन शोपिंग कम्पनी में सॉफ्टवेयर इंजिनियर हैं, ने इसकी मार्केटिंग में अहम् भूमिका अदा की। लोकल मार्केटिंग में सुरजीत मलांच ( छोटा भाई), जतिंदर और नतीश आदि ने कमान संभाली।
रिश्तों के लिए बेहतर विकल्प
देश -विदेश कि सभी बड़ी मैट्रीमोनियल वेबसाइटस से ‘हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम’ कही पर भी कम नही है। यह वेबसाइट उन सबकी तरह ही कई प्रकार कि सर्च आप्शन देती है। इतने कम समय में हिमाचल प्रदेश के सर्वाधिक प्रोफाइल हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम में ही हैं जो कि दिन प्रतिदिन बढ़ ही रहे है।  हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम इंटरेस्ट स्वीकार होने पर फ्री कांटेक्ट डिटेल प्रोवाइड करती है जिससे दुसरे मेम्बर की मर्जी के बिना उसका कांटेक्ट नंबर भी शेयर नहीं होता और इंटरेस्ट भेजने वाले का काम भी बिना किसी फीस के ही हो जाता है। सतीश का कहना है कि यह सुविधा वेबसाइट में हमेशा रहेगी।
फ्री में कीजिये रजिस्टर्ड
सतीश कहते हैं कि ‘हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम’ एक मेरिज ब्यूरो नही है, ऑनलाइन पोर्टल है। यहाँ पर आपको मेरिज ब्यूरो कि तरह कोई एडवांस नही देना होता है, फ्री में रजिस्टर्ड करना होता है वो भी ऑनलाइन अपने मोबाइल या कंप्यूटर से रजिस्टर्ड करने के बाद आप इसमें अपनी मर्जी से वरीयता के हिसाब से रिश्ता ढूंढ सकते है। सामान्य आपको दूसरे लोगों के कांटेक्ट नंबर नही दिखते ताकि उनका कोई दुरूपयोग न हो , लेकिन मेम्बर को इंटरेस्ट भेज कर इंटरेस्ट स्वीकार होने के बाद बिना किसी फीस के कांटेक्ट डिटेल्स ले सकते है, हालकी प्रीमियम मेम्बरशिप ले कर आप तुरंत किसी का भी नंबर देख सकते है।
हिमाचल के समुदाय को ध्यान में रख कर डिजायन
सतीश कहते हैं हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम निसंदेह यह एक कमर्शियल वेबसाइट है, वेबसाइट को 24X7 चलाने के लिए डेडिकेटेड सर्वर्स लगाये गए हैं , डेवलपर्स है , हेल्पडेस्क स्टाफ है। एक लिमिट वेबसाइट को फ्री रखा गया है। रिश्ते के लिए जाति , उम्र,शिक्षा और व्यब्साय के अनुसार सर्च करने कि सुविधा यह वेबसाइट उपलब्ध करवाती है। वेबसाइट को पूरी तरह से हिमाचल के समुदाय को ध्यान में रख कर डिजाईन किया गया थाऔर इस वेबसाइट में प्रदेश के सभी समुदाय डाले गये हैं ,साथ ही Does Not Matter का विकल्प भी रखा है।
हिमाचली संस्कृति का संरक्षण
हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम टेक्नोलॉजी के जरिये न केवल घर बसाने की कोशिश कर रही है बल्कि हिमाचली संस्कृति को भी बढ़ावा देने का प्रयास कर रही है। अपने ऑफिसियल फेसबुक पेज www.facebook.com/himachalirishta पर शादियों के लोकगीतों, रीति रिवाजों से सम्बंधित वीडियो और टेक्स्ट पोस्ट करते रहते हैं।
हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम को हर घर तक पहुँचने का सपना
सतीश का कहना है कि आमतौर पर रिश्ता ढूँढने में सबसे ज्यादा मुश्किल उन लोगों को होती है जो हिमाचल प्रदेश से बाहर दिल्ली , चंडीगढ़,मुंबई, बंगलौर,पुणे या विदेशों में रहेते हैI हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम इसी गैप को पूरा करने के लिए एक कोशिश है, पूरी तरह ऑनलाइन सेवा होने कि वजह से इसको दुनिया के किसी भी कोने से प्रयोग किया जा सकता है। हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम को हर हिमाचली के घर में पहुँचाना टीम का सपना है।
गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करें एप
अब आप हिमाचली रिश्ता की एंड्राइड एप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते है ,आप डाउनलोड के लिए इस लिंक का प्रयोग कर सकते है
https://play.google.com/store/apps/details… एंड्राइड एप से आपको प्रोफाइल बनाने और सर्च करने में काफी आसानी होगी। इस एप को प्रयोग करना बिलकुल सरल है फिर भी किसी तरह की परेशानी हो तो आप हमे 9459143712 पर कॉल कर सकते है।
मुख्यमंत्री के हाथों फोकस हिमाचल सम्मान
सतीश मालंच के इस स्टार्टअप को हिमाचल प्रदेश सरकार ने सराहा है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने लीक से हट कर कुछ ख़ास करने के लिए हिमाचली रिश्ता डॉट कॉम के संचालक एवं सीएओ सतीश मलांच को भव्य समारोह में फोकस हिमाचल सम्मान 2018 से सम्मानित किया है।
कोविडकाल में किया परिचय सम्मलेन
हिमाचली रिश्ता की टीम ने कोविड के दौरान नियमों का पालन करते हुए नगरोटा बगवां के अक्षय पैलेस में हिमाचल प्रदेश के अपनी तरह के पहले वर – बधू सम्मलेन का सफल आयोजन किया। इस आजोजन की अध्यक्षता करने वाले नगरोटा बगवां के एसडीएम शशीपाल नेगी ने इस स्टार्टअप को सराहते हुए कहा कि समय आ गया है कि प्रदेश के युवाओं को नौकरी करने की जगह नौकरी देने वाला बनना होगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *