लक्ष्य दस साल का चित्रकार, बहुत खूबसूरत है उसका रंगों का संसार, लिखता है कविता भी शानदार

Spread the love

लक्ष्य दस साल का चित्रकार, बहुत खूबसूरत है उसका रंगों का संसार, लिखता है कविता भी शानदार
चंबा से मनीष वैद की रिपोर्ट
नाम लक्ष्य, उम्र 10 साल और नाम पर उपलब्धि यह कि तीस बेहद शानदार कलाकृतियों का सृजन और साथ में हिन्दी में 12 उम्दा कविताओं की रचना. लक्ष्य क़ो बचपन से ही रंगों से खेलने का शौक है और नियमित अभ्यास से महज दस साल में अब वह एक मंझे हुए चित्रकार के तौर पर जाना जाने लगा है. वहीं एक संवेदनशील कवि के तौर पर चर्चित हो रहा है.
इस समय तक 30 पेंटिंग्स बना चुके हैं जिसमें पेंसिल स्कैच, वाटर कलर स्कैच शामिल हैं. कोरोनाकाल के दौरान लक्ष्य ने घर में ही ऑनलाइन प्रदर्शनी लगाई, जिसका उदघाटन दादी श्रीमती निर्मला ने किया.
शिक्षक के लाल का कमाल
02 अक्टूबर 2010 क़ो शिक्षक जगजीत आज़ाद और माता सुमन के घर गांव संघरैन, डाकघर बलेरा, तहसील डलहौजी ज़िला चंबा में जन्मे लक्ष्य सेक्रेड हर्ट स्कूल डलहौजी मेंछठी में पढ़ रहा है.
उनके पिता शहीद आशीष थापा मैमोरियल राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला घटासनी में प्रधानाचार्य और माता गृहणी हैं. लक्ष्य कुशाग्र बुद्धि है और पढ़ाई में भी अव्वल रहता है.गणित में उसकी विशेष रुचि है. लक्ष्य के परिवार में लेखन, गायन और चित्रकला का माहौल हमेशा से रहा है.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *