यूथ की फर्स्ट चॉयस कुल्लू क़ा हैंगआउट कैफे, स्टार्टअप शुरू कर सोनू ने पेश की मिसाल

Spread the love

यूथ की फर्स्ट चॉयस कुल्लू क़ा हैंगआउट कैफे, स्टार्टअप शुरू कर सोनू ने पेश की मिसाल

कुल्लू से आरती ठाकुर की रिपोर्ट

 

आज के इस प्रतिस्पर्धा के युग में जहां रोजगार के साधन सीमित है वहीं अपने पसंदीदा क्षेत्र में रोजगार पाने का सपना युवाओं के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। इस संदर्भ में सरकार द्वारा युवाओं को स्वाबलंबन अपनाकर अपना स्टार्टअप शुरू करने के लिए प्रोत्साहन दिया जा रहा है, ताकि युवा ना केवल स्वयं को आत्मनिर्भर बना सके बल्कि अन्य लोगों को भी रोजगार प्रदान कर पाए। कुछ ऐसा ही कर दिखाया है कुल्लू के युवा सोनू ने।

सोनू को बचपन से ही स्वादिष्ट व्यंजन बनाने व खिलाने का शौक था। अपने इस शौक को उन्होंने अपना पेशा बनाया और अनेक बड़े और छोटे होटलों में बतौर बावर्ची उन्होंने काम किया। इसी बीच सोनू ने भारतीय तथा चाइनीस व्यंजनों को बनाने में महारत हासिल की। लेकिन नौकरी की अनिश्चितता तथा भविष्य की चिंता सोनू को कुछ अलग करने के लिए प्रेरित कर रही थी। इसी बीच सोनू ने अपना स्टार्टअप शुरू करने के बारे में सोचा और कुल्लू में अपना कैफे खोल डाला।

आज सोनू अपना कैफे खोल काफी खुश है और ग्राहकों को डेढ़ सौ से अधिक प्रकार के लजीज व्यंजन परोस रहे हैं । कुछ ही समय में हैंग आउट कुल्लू के युवाओं की पहली पसंद बन गया है। सोनू कहते हैं कि उनके कैफे को अभी एक माह होने वाला है और इस छोटी से अवधि में ही उन्हें लोगों से काफी सराहना मिल रही है। निश्चित रूप से सोनू उन युवाओं के लिए एक प्रेरणा है जो अपने शौक को पंख देकर उन्हें अपना पेशा बनाने का ख्वाब और साहस रखते हैं। सोनू ने युवाओं को रोजगार के लिए यहां वहां भटकने के बजाय अपनी रुचि अनुसार स्टार्टअप शुरू करने का विकल्प सुझाया है।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *