मोहाली में टीचर बैजनाथ की मृदुल शर्मा के ‘योग गुरू’ बनने की प्रेरककथा, क्वांरटीन सेंटरों तक ऑनलाइन योग करवाने को लेकर बनाई पहुंच

Spread the love

मोहाली में टीचर बैजनाथ की मृदुल शर्मा के ‘योग गुरू’ बनने की प्रेरककथा, क्वांरटीन सेंटरों तक ऑनलाइन योग करवाने को लेकर बनाई पहुंच
बैजनाथ से प्रीतम सिंह की रिपोर्ट
कांगड़ा जिला के बैजनाथ विधानसभा क्षेत्र के लंधु (करोटा) गांव की मृदुला शर्मा ने कभी अपने पिता और माता को योग करते हुए योग का आरंभिक अभ्यास करना शुरू किया था। पिता को लगा कि बेटी की योग के प्रति गहरी रूचि है तो साल 2006 में मृदुला को योग की शिक्षा दिलवाई। मोहाली के एक प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थान में शिक्षिका मृदुला शर्मा ने खुद को योग गुरू के तौर पर साबित किया है। इस बार अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर जिला कांगड़ा का पहला ऑनलाइन योग सैशन में योग ट्रेनर के तौर पर जिला के हजारों लोगों को योग करवाया। यह सैशन गूगल मीट पर ऑनलाइन था, जिस पर कई लोग जुड़े थे। ऑनलाइन योग को कांगड़ा जिला के क्वांरटीन सेेंटरों तक पहुंचाने की व्यवस्था की गई थी।
ऐसे हुई योग दिवस पर पहल
मृदुला का कहना है कि ऐसा विचार आते ही पहले भाई के साथ शेयर किया, फिर एसडीएम बैजनाथ को फोन कर अपना प्लान बताया। वहां से ‘गो अहैड’ का सिगनल मिलने पर डीसी कांगड़ा राकेश प्रजापति के भी परमिशन के लिए अनुरोध किया। मृदुला के ऑनलाइन योग को कांगड़ा जिला के क्वांरटीन सेेंटरों तक पहुंचाने में उपायुंक्त कांगड़ा का सहयोग महत्वपूर्ण रहा। मृदुला के लिए यह गौरव के क्षण थे, जब इस सैशन के बाद उपायुक्त कांगड़ा ने उन्हें बधाई संदेश भेजा।
पेंटिंग और कुकिंग में भी कमाल
मृदुला को बैजनाथ के शिवरात्रि उत्सव में कांगड़ा जिला की पहली फिमेल एंकर बनने का अवसर मिला और मंच पर उन्होंने अपनी प्रतिभा से सबको प्रभावित किया। साल 2018 में बैजनाथ शिवरात्रि के राज्य स्तरीय महोत्सव में उनकी बनाई हुई कैनवास पेंटिंग मुख्यातिथि पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार को भेंट की गई। शिवरात्रि मेला कमेटी की ओर से उनकी एक अन्य पेंटिंग शहरी आवास मंत्री सरवीण चौधरी को भेंट की गई। साल 2012 में वह स्टार प्लस पर आने वाले मास्टर शैफ कुकिंग शो में भाग लिया। कुकिंग से सम्बन्धित आर्टिकल कई पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित हुए हैं।
परिवार ने किया प्रेरित व प्रोत्साहित
मृदुला महाकाल मंदिर के पुरोहित पविार की बेटी है। पिता संतोष कुमार शर्मा व मां कांता शर्मा ने बेटी को उचित शिक्षित करने के साथ योग व चित्रकला में उड़ान भरने के लिए बेटी को हर संभव सहयोग देकर प्रेरित व प्रोत्साहित किया। बीए बीएड करने के बाद साल 2009 में मृदुला की शादी संजीव शर्मा से हुई जो बैंक प्रबंधक हैं। उनका बेटा इशान संगीत की दुनिया में अपनी पहचान बना रहा है। सास, ससुर, देवर देवरानी वाले संयुक्त परिवार की बहू मृदुला को आगे बढऩे के लिए परिवार के हर सदस्य ने प्रेरित किया है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *