भारतीय वॉलीबाल का चमकता सितारा शिमला का सैनिक पंकज शर्मा, एशियाई सेना खेलों के फाइनल में पाकिस्तान को हारने वाली भारतीय सेना की टीम का कर चुके प्रतिनिधित्व   

Spread the love

भारतीय वॉलीबाल का चमकता सितारा शिमला का सैनिक पंकज शर्मा, एशियाई सेना खेलों के फाइनल में पाकिस्तान भारतीय सेना की को हारने वाली भारतीय सेना की टीम का कर चुके प्रतिनिधित्व   

शिमला से विनोद भावुक की रिपोर्ट

आज हम शिमला जिला के रोह्डू क्षेत्र के एक छोटे से गांव के एक साधारण किसान परिवार से सम्बन्ध भारतीय वॉलीबाल के चमकते सितारे पंकज शर्मा से आपका परिचय करवा रहे हैं। रोहडू स्पोर्ट्स होस्टल से इस खेल की बारीकियां सीखने वाले इस खिलाड़ी के वॉलीबाल के जुनून ने उसको भारतीय सेना में नौकरी दिलाने में मदद की, बल्कि भारतीय युवा टीम का प्रतिनिधित्व करने का अवसर भी मिला। पंकज शर्मा ने 2012 में काठमांडू में एशियाई सेना खेलों के फाइनल में पाकिस्तान सेना की टीम को हारने वाली भारतीय सेना की टीम का  प्रतिनिधित्व किया। वह 2018 में  एशियाई खेलों में भाग लेने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे, जिसमें मालदीव और हांगकांग को हराया था।  भारतीय सेना में हवलदार पंकज शर्मा कोच्चि में अगले महीने शुरू होने वाली प्राइम वॉलीबॉल लीग (पीवीएल) में बेंगलुरु टॉरपीडो टीम में अपनी खेल प्रतिभा दिखाने के लिए सिकंदराबाद में आर्मी कैंप में खूब पसीना बहा रहे हैं।

स्कूल के कोच ने पहचानी प्रतिभा

शिमला में स्कूली पढाई के दौरान स्कूल कोच ने पंकज को वॉलीबॉल खेलने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया। पंकज ने वॉलीबाल के खेल में महारत हासिल करने के लिए कठिन चुनौतियों का सामना किया। पारिवारिक स्थिति ऐसी थी कि डाईट और स्पोर्ट्स शूज तक के लिए पैसे नहीं होते थे। बावजूद इसके खेल के प्रति दीवानगी ने साल 2007 में स्पोर्ट्स होस्टल रोहड़ू में चयन के दरवाजे खोले और यहां इस खेल की बारीकियां सीखीं। इस खेल ने साल 2010 में पंकज शर्मा को भारतीय सेना में नौकरी दिलाने में मदद की और उसी वर्ष उन्हें भारत की युवा टीम का प्रतिनिधित्व करने के लिए बुलाया गया।

इंडिया कैम्प और टीम इंडिया में शामिल

पंकज शर्मा ने  2012- 13 के सीज़न में सर्विसेज टीम के लिए अपना पहला सीनियर नेशनल खेला और साल वह पहली बार भारत कैंप में शामिल हुए और उसी साल देश के लिए खेले। पंकज शर्मा ने साल 2012 में काठमांडू में एशियाई सेना खेलों में भारतीय सेना की टीम का प्रतिनिधित्व किया जहाँ टीम ने फाइनल में पाकिस्तान सेना को हराया था। वे साल 2018 में एशियाई खेलों में भाग लेने वाली भारतीय टीम का हिस्सा थे, जहां टीम ने मालदीव और हांगकांग को हराया था।

बेंगलुरु टॉरपीडो’ की ड्रेस पहनेंगे पंकज

देश भर में व्यापक रूप से खेला जाने वाला वॉलीबाल पिछले सात दशकों से अधिक समय से भारतीय खेल का हिस्सा रहा है, लेकिन अन्य खेलों के मुकाबले नजरअंदाज ही रहा है। प्रो वॉलीबॉल लीग के समापन के तीन साल बाद प्राइम वॉलीबाल लीग भारत में इस खेल को एक नया जीवन दिया देने की बेहतरीन कोशिश है। प्राइम वॉलीबाल लीग में खिताब के लिए आठ शहर-आधारित फ्रेंचाइजी खिताब के लिए आपस में भिडेंगी और पंकज शर्मा’ बेंगलुरु टॉरपीडो’ की ड्रेस पहनेंगे। बेंगलुरु टॉरपीडो’ ने पंकज शर्मा को 7.5

 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.