बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के पीडिआट्रिक्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस के प्रोफ़ेसर नगरोटा बगवां के बूसल गांव के डॉ. अशोक चौधरी

Spread the love

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के पीडिआट्रिक्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस के प्रोफ़ेसर नगरोटा बगवां के बूसल गांव के डॉ. अशोक चौधरी
नगरोटा बगवां से विनोद भावुक की रिपोर्ट
प्रतिभाओं से परिचय की इस रिपोर्ट के नायक हैं डॉ. अशोक चौधरी। चंगर से एक टाटपट्टी वाले स्कूल में अध्ययन कर बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में अध्यापन के सफर में डॉ. अशोक चौधरी अपनी प्रतिभा की चमक बिखेर रहे हैं. कांगड़ा जिला के नगरोटा बगवां उपमंडल के चंगर क्षेत्र बड़ोह के बूसल गांव के डॉ. अशोक चौधरी बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के पीडिआट्रिक्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस के प्रोफ़ेसर है. डॉ. अशोक चौधरी ने 1987 में आईजीएमसी शिमला से अपने करियर की शुरुआत सीनियर रेजिडेंट पीडिआट्रिक्स के तौर पर की और 1988 – 1990 में दिल्ली के एलएनजेपी और एम्एएमसी मेडिकल कॉलेज में सीनियर रेजिडेंट पीडिआट्रिक्स रहे. 1990 -1999 तक बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय वाराणसी के पीडिआट्रिक्स विभाग में लेक्चरर और सीनियर लेक्चरर रहे. इसी संसथान में 1999- 2005 पीडिआट्रिक्स विभाग में रीडर के पद पर रहे. . 2006 – 2007 पीडिआट्रिक्स विभाग के एसोशिएट प्रोफ़ेसर बने. ड़ॉ. अशोक चौधरी साल 2007 से बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के पीडिआट्रिक्स इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साइंस के प्रोफ़ेसर है.
हुनर से फेलोशिप और स्कॉलरशिप
डॉ. अशोक चौधरी को साल 2005 में इंग्लैण्ड में कॉमन वेल्थ अकेडमिक स्टाफ फेलोशिप और अमेरिकन अकेडमी ऑफ़ पीडिआट्रिक्स इण्डिया ज्ञानी फंड स्कॉलरशिप मिली। उन्हें साल 2008 में नॉर्वे में आईसीएमआर इटरनेशनल फेलोशिप फॉर सीनियर बायोमेडिकल साइंस और जनवरी 2010 में इंडियन नेशनल साइंस अकेडमी विजिटिंग फेलोशिप मिल चुकी है. डॉ. अशोक चौधरी को साल 2013 , 2015 और 2016 में बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय का वाईस चांसलर मेडिकल रिसर्च आवार्ड और एकेडमिक एक्सीलेंट अवार्ड प्रदान किया गया है.
जड़ों से गहरे जुड़े हैं ड़ॉ. अशोक
एक जनवरी 1960 को कांगड़ा जिला के नगरोटा बागवां उपमंडल के चंगर क्षेत्र बड़ोह के बूसल गांव के स्वर्गीय जैसी राम के घर पैदा हुए अशोक चौधरी प्राम्भिक शिक्षा बूसल और राजकीय उच्च पाठशाला बड़ोह से दसवीं करने के बाद जे एन इंटर कॉलेज लखनऊ से माध्यमिक शिक्षा हासिल की. 1978 – 1982 में बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय वाराणसी से एमबीबीइस और यही से 1984 -1986 में एमडी की डिग्री ली. बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय जैसे प्रतिष्ठित संसथान में अध्यापनरत डॉ. अशोक चौधरी अपने क्षेत्र से गहरे जुड़े हैं. उनकी उदार आर्थिक मदद से सीनियर सेकेंडरी स्कूल बड़ोह के स्कूल गेट का निर्माण जारी है.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *