त्रियुंड की राखी करता यह बसाखी, स्मार्ट सिटी धर्मशाला के इंटरनेशनल टूरिस्ट डेस्टिनेशन त्रियुंड का इकलौता मेजबान

Spread the love

त्रियुंड की राखी करता यह बसाखी, स्मार्ट सिटी धर्मशाला के इंटरनेशनल टूरिस्ट डेस्टिनेशन त्रियुंड का इकलौता मेजबान
त्रियुंड से अरविंद शर्मा की रिपोर्ट
दुनिया भर के ट्रैकरों के लिए स्मार्ट सिटी धर्मशाला का त्रियुंड ट्रैकिंग रूट अपनी ओर आकर्षित कर लेता है। हर साल यहां देश- विदेश से हजारों ट्रैकर ट्रैकिंग करते हैं। कुछ ट्रैकर त्रियुंड तक ही जाते हैं,लेकिन कुछ इलाका होते हुए इंद्रहार जोत को पार कर चंबा की ओर ट्रैकिंग पर निकल जाते हैं। इस ट्रैकिग रूट पर आने- जाने वालों के लिए त्रियुंड एक रात का बसेरा जरूर बनता है। इसी इंटरनेशनल टूरिस्ट डेस्टिनेशन का इकलौता मेजबान है बसाखी राम। बसाखी राम पिछले तीन दशक से त्रियुंड में आने वाले मेहमानों की खातिरदारी के लिए देश- विदेश में मशहूर है। यहां आने वाले ट्रैकरों के लिए पानी से लेकर खाने और ठहरने की व्यवस्था बसाखी राम के जिम्मे है।
मुस्कान के साथ स्वागत का हुनर
त्रियुंड की ट्रैकिंग करने वाले जानते हैं कि इस ट्रेकिंग रूट में पानी एक बड़ी समस्या है। त्रियुंड में पीने का पानी दो किलोमीटर तीखी ढलान उतर/ चढ़ कर लाना पड़ता है। यहां आने वाले वाले मेहमानों के लिए हर रोज बसाखी राम पीने के पानी की व्यवस्था करता है। हंसमुख बसाखी राम के चेहरे पर कभी किसी ट्रैकर ने शिकन नहीं देखी। वह हर ट्रेकर का स्वागत मुस्कान के साथ करता है।
फोरेस्ट रेस्ट हाऊस का चौकीदार
कांगड़ा जिला मुख्यालय धर्मशाला के बल्ह गांव के रहने वाले बसाखी राम पिछले तीस सालों से धर्मशाला के टूरिस्ट डेस्टिनेशन त्रियुंड में स्थित फारेस्ट विभाग के रेस्ट हाउस मेंं चौकीदार के तौर पर सेवाएं प्रदान कर रहे हैं। उन्हें एक अच्छे मेजबान के तौर जाना जाता है। यहां आने वाले कई देशों के ट्रेकर उनके दोस्त हैं। हालांकि बसाखी राम ने किसी विश्विद्यालय से पढ़ाई नहीं की, लेकिन त्रियुंड में आने वाले विभिन्न देशों के ट्रैकरों से परिचय के चलते वे दुनिया की कई भाषाओं को समझने का हुनर रखता है।
बसाखी का सम्मान, पयर्टन कारोबार की पहचान
धर्मशाला कॉलेज के ओएसए सभागर में आयोजित फोकस हिमाचल सम्मान समारोह 2017 में बसाखी राम को मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के हाथों सम्मानित किया गया। बसाखी राम का सम्मान असल में पर्यटन कारोबार की पहचान है। हिमाचल प्रदेश पर्यटन राज्य के रूप मेें दुनिया भर में जाना जाता है। अगर बसाखी राम जैसे मेजबान हों तो फिर प्रदेश का पर्यटन विकास की नई उम्मीदें पाल सकता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *