जीने की राह- इस ‘राजन’ के पास भिखारी भी हक से आता है भीख मांगने, समाज को समर्पित एक कारोबारी

Spread the love

जीने की राह- इस ‘राजन’ के पास भिखारी भी हक से आता है भीख मांगने, समाज को समर्पित एक कारोबारी
नगरोटा बगवां से उमाकांत डोगरा और जसवंत जस्सो की रिपोर्ट
कांगड़ा जिला के नगरोटा बगवां बाजार के राजन ढींगरा एक ऐसे समाजसेवी हैं, जिन्हें राजा रंतिदेव की संज्ञा दी जाती है. यह सच है कि उनके पास भिखारी भी भीख मांगने आता है तो अपना हक समझकर। कुरियर सर्विस जैसा छोटा सा काम करने वाला व्यक्ति भी इतना समाजसेवी हो सकता है हमारी समझ से परे है.सियासत में बड़ा मुकाम हासिल कर चुके कई नेता औरकई बड़े-बड़े लोगों को यहां भोजन करते देखा है.
पुराने अड्डे के पास उनकी पुरानी सी दुकान में अगर दस आदमी भी बैठे हों तो उन सबको खाना खिलाने की दिलेरी रखते हैं.
इस हट्टी तक रही बड़ी हस्तियों की दस्तक
आज के इस युग में ऐसे व्यक्ति बहुत कम मिलते हैं जो खुद अभाव में रहकर भी दूसरों का पेट भरते हैं। शहर में यदि कोई मौत को जाती है, तो राजन सबसे पहले पहुंचते हैं और श्मशानघाट से पूरा काम निपटाने के बाद ही घर आते हैं। राजन मधुरभाषी व्यक्ति हैं. पूर्व मंत्री जीएस बाली और वर्तमान विधायक अरुण कुमार कुका के साथ बहुत अच्छे रिलेशन रहे हैं। बंडेर में बहुत पानी वह चुका, राजन और उनके हालत आज भी जैसे थे बैठे हैं, पर मददगार का उनका सलीका नहीं बदला.
हम आपके जज्बे को प्रणाम करते हैं

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *