जानिए क्यों सरकार की आंखों की किरकिरी बने पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के करीबी यह अधिवक्ता

Spread the love

जानिए क्यों सरकार की आंखों की किरकिरी बने पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के करीबी यह अधिवक्ता
शिमला से विनोद भावुक की रिपोर्ट
हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय शिमला में प्रक्टिस करने वाले अधिवक्ता विनय शर्मा हिमाचल प्रदेश की भाजपा सरकार की आंखों की किरकिरी बने हुए हैं। पिछले दो साल के कार्यकाल में वह कई मामलों में सरकार को अदालत में पहुंचा चुके हैं। कथित लैपटॉप घोटाले में उच्च न्यायालय में दायर उनकी याचिका पर मामला विचाराधीन है। उनका आरोप है कि परीक्षाओं में अव्वल रहने वाले स्टूडेंट्स को मिलने वाले टैपटॉप सरकार ने बहुत महंगी दरों पर खरीदे हैं।उन्होंने एचआरटीसी के ड्राइवरों की भर्ती के मामले में भी उच्च न्यायालय में यााचिका दायर की है। उनका आरोप है कि इस भर्ती में ऐसे अभ्यार्थी भी सफल घोषित कर दिए गए, जो भर्ती के लिए हुई लिखित परीक्षा में बैठे ही नहीं थे। इस मामले में सरकार की ओर से अदालत में रिप्लाई फाइल किया जा चुका है और अब इस पर बहस होनी है। विनय शर्मा ने बहुचर्चित पटवारी भर्ती मामले मे उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया। उन्होंने आरोप चस्पां किए कि पटवारी भर्ती मामले में सरकार के चेहतों को नौकरियों की बंदरबांट करने के आरोप लगाए हैं। उच्च ने उनकी याचिका को स्वीकार करते हुए इस मामले में सीबीआई जांच के आदेश दिए हैं। बीते दिनों सरकाघाट में भीड़ द्वारा वृद्वा की पिटाई और बेइज्जती करने के मामले का मीडिया में पटाक्षेप होने पर विनय शर्मा ने उच्च न्यायालय में बिना किसी याचिका के अपना पक्ष रखा। उच्च न्यायालय ने उनकी बात को मानते हुए पीडि़ता को तत्काल पुलिस प्रोटेक्शन देने के आदेश दिए और साथ ही इस प्रकरण की जांच रिपोर्ट उच्च न्यायालय को सौंपने के आदेश दिए।
नियमित तौर पर रक्तदान
विनय शर्मा पूर्व कांग्रेस सरकार ने उप महाधिवक्ता रहे हैं। वे कांग्रेस पार्टी में किसी पद पर नहीं हैं, लेकिन उन्हें पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का करीबी कहा जाता है। उन्होंने वीरभद्र सिंह से जुड़े प्रसंगों पर ‘राजा नहीं फकीर है’ पुस्तक लिखी है। वह नियमित तौर पर रक्तदान करते हैं। विनय शर्मा मूलत: कांगड़ा जिला के वीरता गांव से सम्बन्ध रखते हैं और उच्च न्यायालय में प्रेक्टिस करने से पहले जिला न्यायालय धर्मशाला में प्रेक्टिस करते थे। वह सोशल मीडिया पर खासे सक्रीय रहते हैं और नियमित फेसबक लाइव के जरिये तत्कालीन मुद्दों पर अपना पक्ष रखते हैं। वे खाने के बहुत शौकीन हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *