चमकता सितारा – नार्थ-ईस्ट में भाजपा की कामयाबी के लिए हिमाचल के अजय जम्वाल ने मजबूत की है जमीन

Spread the love

चमकता सितारा – नार्थ-ईस्ट में भाजपा की कामयाबी के लिए हिमाचल के अजय जम्वाल ने मजबूत की है जमीन

 

जोगिंद्रनगर से सत्य प्रकाश की रिपोर्ट

त्रिपुरा, नागालैंड और मेघालय जैसे उत्तर-पूर्वी राज्यों में बीजेपी की चमकदार कामयाबी का गहरा हिमाचल कनेक्शन है। इन राज्यों में वर्षों से भाजपा संगठन की जिम्मेदारी संभाल रहे वरिष्ठ भाजपा नेता अजय जम्वाल हिमाचल प्रदेश के वे हीरे हैं, जिन्होंने अपने कुशल नेतृत्व के दम पर संगठन का मजबूत आधार स्थापित किया और भाजपा के लिए चमकदार कामयाबी का रास्ता तैयार किया। इससे पहले असम और मणिपुर में भी भाजपा की जीत के हीरो अजय जम्वाल ही रहे थे।

 

एबीवीपी प्रचारक से शुरुआत

मंडी जिले के जोगिंद्रनगर के वरिष्ठ भाजपा नेता रहे स्व. कर्नल गंगा राम जम्वाल के बेटे अजय जम्वाल ने साल 1984 में मंडी के वल्लभ राजकीय कॉलेज से स्नातक करने के बाद हिमाचल विश्वविद्यालय शिमला से 1989 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रचारक के रूप में राजनीतिक सफर शुरू किया। 7 साल तक सोलन में प्रचारक रहे। 1991 से अरुणाचल प्रदेश में तीन साल तक प्रचारक रहे।

 

संघ में प्रचार के बाद भाजपा संगठन में शामिल


अजय जम्वाल वर्ष 1995 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में शामिल हुए और लेह-लद्दाख में प्रचारक रहे। भाजपा में शामिल होने पर उन्हें जम्मू-कश्मीर का संगठन मंत्री बनाया गया, जहां पार्टी को 16 सीटें जीतने में कामयाबी मिली। बाद में 7 साल तक पंजाब में पार्टी के संगठन मंत्री रहे और बीजेपी-अकाली सरकार को रिपीट करवाने में अहम रोल अदा किया।

 

असम चुनाव के साथ जीत का सफर

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के प्रचार के तौर पर अरुणाचल में 3 साल का अनुभव होने के कारण असम चुनाव से पहले उन्हें भाजपा संगठन में नॉर्थ-ईस्ट की जिम्मेदारी दी गई। असम मे भाजपा की जीत से शुरू हुआ अजय जम्वाल के चुनावी प्रबंधन का शानदार प्रदर्शन त्रिपुरा, नागालैंड और मेघालय में चुनावी नतीजों में भी खूब पढ़ा जा सकता है।

 

हिमाचल के मुख्यमंत्री की दौड़ में थे शामिल

पिछले वर्ष हुए हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भाजपा को मिली चमकदार कामयाबी के बाद अजय जम्वाल का नाम मुख्यमंत्री के पद को लेकर चर्चा में आया था। भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल के चुनाव हार जाने के बाद मुख्यमंत्री पद के लिए जिन नामों की चर्चा थी, उनमें अजय जम्वाल का नाम भी शामिल था। हालांकि बाद में पार्टी की ओर से जयराम ठाकुर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनाए गए।


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *