चंबा के सरकारी स्कूल से निकला चिकित्सा जगत का अनमोल हीरा, हजारों जटिल ऑप्रेशन करने का बनाया रिकार्ड, हिमाचल श्री से सम्मानित सर्जन डॉ. देवेंद्र मरवाह

Spread the love

चंबा के सरकारी स्कूल से निकला चिकित्सा जगत का अनमोल हीरा, हजारों जटिल ऑप्रेशन करने का बनाया रिकार्ड, हिमाचल श्री से सम्मानित सर्जन डॉ. देवेंद्र मरवाह
चंबा से मुनीष वैद की रिपोट
चंबा के सुराड़ा मुहल्ला में पैदा हुए डॉ. देवेंद्र मरवाह ने सर्जन के तौर पर वह ख्याति हासिल की है कि चिकित्सा जगत में उनका नाम बड़ी इज्जत के साथ लिया जाता है। बेहद विनम्र और हर समय चेहरे पर मुस्कान के साथ मरीजों से वार्तालाप करने वाले डॉ. मरवाह हिमाचल प्रदेश के कई सर्जनों के रोल मॉडल हैं। आज भी वह उसी उत्साह और ऊर्जा के साथ अपने मरीजों से पेश आते हैं, अपने करिअर के शुरूआती दौर में जिस शालीनता के साथ सर्जरी के लिए जाने जाते थे। डॉ. मरवाह को हिमाचल श्री के अवार्ड से अलंकृत किया है।
सरकारी स्कूल ने पैदा किया होनहार डॉक्टर
वर्तमान में डॉ. मरवाह गुटकर में स्थित हरिहर अस्पताल में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। चंबा शहर के सरकारी स्कूल से पढ़ाई करने वाले डॉ. मरवाह 1960 में पंजाब विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित परीक्षा में दसवीं की परीक्षा में हिमाचल प्रदेश के टॉपर रहे हैं। डीएवी कॉलेज से प्री मेडीकल की पढ़ाई करने के बाद उन्होंने दिल्ली युनिवर्सिटी से एमबीबीएस और एमएस की डिग्री हासिल की। अपनी पढ़ाई के दौरान उन्होंने 1962 से 1967 तक नेशनल स्कॉलरशिप हािसल की।
आईजीएमसी व टीएमसी में दी सेवाएं
डॉ. मरवाह ने वर्ष 1974 से 1978 तक स्टेट हैल्थ सर्विसेज में सेवाएं देने के बाद 1978 में इंदिरा गांधी मेडीकल कॉलेज के प्रोफेसर के तौर पर सेवाएं दीं। कुछ समय के लिए टांडा मेडीकल कॉलेज को भी सेवाएं प्रदान की हैं। सेवानिवृति के बाद वह गुटकर स्थित हरिहर अस्पताल में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। सर्जरी के हजारों जटिल ऑप्रेशन करने और सैंकड़ों स्टूडेंट्स को सर्जरी की पढ़्ाई करवाने का रिकॉर्ड उनके नाम दर्ज है।
क्विक डिसिजन, टीम वर्क जरूरी है हर सर्जरी में
डॉ. मरवाह का कहना है कि सर्जरी के मामले में विशेषज्ञ को तत्काल डिसिजन लेना होता है। इसके लिए सर्जन की ऑल रांउड डवलपमेंट जरूरी है, जो अनुभव से हसिल होती है। उनका कहना है कि सर्जरी में टीम वर्क जरूरी है। वह कहते हैं कि कुछ पेचीदा ऑप्रेशन घंटों चलते हैं, ऐसे में सर्जन के पास स्टेमिना हेाना जरूरी है।
हर केस सर्जन के लिए बड़ी चैलेंज
डॉ. मरवाह कहते हैं कि सर्जरी छोटी हो अथवा बड़ी, सर्जन के लिए हर केस चुनौती से भरा होता है। वह कहते हैं कि सर्जरी का कोई केस एक- दूसरे से नहीं मिलता है। सर्जन अपने काम के दौरान कई चीजें सीखता है, जो अगले ऑप्रेशन में उनके लिए सहायक होती हैं। एक सर्जन के लिए उसका पसेंट और पसेंट की प्रोब्लम को सॉल्ज करना सबसे जरूरी है।
जूनियरों के मन में हो सीनियर की इज्ज्त
डॉ. मरवाह का कहना है कि सर्जन अपने जूनियरों के लिए रीोल मॉडल होना चाहिए। एक अच्छे सर्जन के लिए अच्छा नागरिक होना जरूरी है। सर्जन अपने पेसेंट सेसहानुभूति रखे और अपने पसेंट को सही और तर्कसंगत सलाह दे। उनका कहना है कि सर्जन के लिए उसका ख्ुाद का व्यक्तित्व बहुत मायने रखता है।
तकनीक ने आसान की ट्रीटमेंट और सर्जरी
डॉ. मरवाह सर्जनों की उस पीढ़ी का प्रतिनिधित्व करते हैं, जिस दौर में अत्याधुनिक उपकरणों के अभाव के बावजूद अनुभव और अध्ययन के आधार पर सर्जरी करनी होती थी। वह कहते हैं कि तकनीकी विकास ने ट्रीटमेंट और सर्जरी को आसान कर दिया है। अब डायग्नोज करने के लिए तकनीक से आसानी होती है। बावजूद इसके सर्जन का खुद का अनुभव आज भी काम आता है। वह कहते हैं कि अब विभिन्न प्रकार की सर्जरी के विशेषज्ञ उपलब्ध हैं। वह कहते हैं कि तकनीक के ज्ञान के बावजूद सर्जन की चुनौतियां कम नहीं हुई हैं, बल्कि ज्यादा बढ़ गई हैं।
गुरूओं ने दिखाई जीने की राह
डॉ मरवाह कहते हैं कि जिस समय वह स्टूडेंट्स थे, यह वह दौर था जब देश के गुलामी की बेडिय़ों से आजाद होने के बाद देश के नागरिक एक नया भारत बनाने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे थे। उस दौर के शिक्षक बेहतरीन नागरिकों के निर्माण में अहम भूमिका अदा कर रहे थे। डॉ मरवाह कहते हैं कि वह इस मामले में धनी रहे कि उन्हें अपने स्कूली जीवन मेंं आदर्श शिक्षक मिले, जिन्होंने न केवल उन्हें जीवन जीने की सीख दी, बल्कि देश के लिए कुछ कुर गुजरने का जज्बा भी सिखाया, जो उनके जीवन में बहुत काम आया।
सर्जरी में वर्ल्ड लीडर हो सकता है इंडिया
डॉक्टर मरवाह का कहना है कि भारत में सर्जरी के क्षेत्र में उच्च मापदंड स्थापित किए हैं। यह सुपर स्पेशलाइजेशन का युग है। छोटी से छोटी सर्जरी भी वर्ल्ड क्लास होनी चाहिए। सर्जरी में एक अच्छी टीम पर बहुत कुछ निर्भर करता है। अब विदेशों से लोग भारत में सर्जरी करवाने के लिए आने लगे हैं। भारत सर्जरी के क्षेत्र में वल्र्ड क्लास हो सकता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *