कुल्लू के डांस ग्रुप ‘डी पायरेट्स क्रू’ के मेम्बेर्स ने डांस वीडियोज देख सीखा डांस, जिद और जुनून से किया कई खिताबों पर कब्जा अब ग्रुप संचालित कर राह डी पायरेट्स डांस स्टूडियो ‘ और सोशल एक्सपेरिमेंट चैनल ‘कलोल स्टार’

Spread the love

कुल्लू के डांस ग्रुप ‘डी पायरेट्स क्रू’ के मेम्बेर्स ने डांस वीडियोज देख सीखा डांस, जिद और जुनून से किया कई खिताबों पर कब्जा
अब ग्रुप संचालित कर राह डी पायरेट्स डांस स्टूडियो ‘ और सोशल एक्सपेरिमेंट चैनल ‘कलोल स्टार’
कुल्लू से विनोद भावुक की रिपोर्ट
यह प्रेरक कथा है कुल्लू के उन युवाओं की जिन्होंने डांस के क्षेत्र में लीक से हट कर कुछ करने की ठानी और बिना किसी प्रशिक्षण के डांस के वीडियोज देख- देख कर कड़े अभ्यास से खुद को डांस में माहिर किया। आज यह ग्रुप उत्तरी भारत के नंबर एक डांस ग्रुप ‘ डी पायरेट्स क्रू’ के नाम से अपनी ख़ास पहचान रखता है। अब से पहले बड़े शहरो से नामी डांसर्स डांस के गुर सिखाने आते थे लेकिन पहली बार ऐसा हुआ कि हिमाचल का यह डांस ग्रुप महाराष्ट्र जैसे बड़े राज्य के धुले शहर में डांस वर्कशॉप लगाने बुलाया गया।
ग्रुप के नाम हैं डांस के कई खिताब
यूं तो डी पायरेट्स के नाम बहुत से ख़िताब हैं, लेकिन ये इकलौता ऐसा ग्रुप है जिसने हिमाचल प्रदेश को इतिहास में पहली बार “इंडियास गोट टैलेंट 2016” में प्रदर्शित किया। यह ग्रुप ‘हिमाचल टैलेंट हंट 2014’, ‘डांस हिमाचल डांस 2015’, ‘नेशनल विंटर कार्निवाल 2016’ और ‘हिमाचल गोट टैलेंट 2017’ जैसे उत्तरी भारत के कई डांस कम्पटीशन के विजेता रह चुका है।
‘कलोल स्टार’ विदेशों में भी हिट
इस ग्रुप ने उत्तरी भारत का पहला YOUTUBE प्रैंक और सोशल एक्सपेरिमेंट चैनल ‘कलोल स्टार’ भी शुरू किया है, जिसका शुरु में तो लोगों ने मज़ाक बनाया, लेकिन इस ग्रुप ने इतिहास रचते हुए उत्तरी भारत में सबसे पहले यूट्यूब अर्निंग पाने वाले youtuber बनकर इतिहास रच दिया। इनके प्रैंक्स की न सिर्फ भारत में बल्कि विदेशो में भी सराहना की जाती है।
हिमाचल का पहला प्रोफेशनल डांस स्टूडियो
‘ डी पायरेट्स क्रू’ ने हिमाचल का पहला प्रोफेशनल डांस स्टूडियो ‘डी पायरेट्स डांस स्टूडियो ‘ भी शुरू किया है, जहां पर हर उम्र के लोगों को मुंबई के स्तर का डांस प्रशिक्षण दे रहे हैं। दुनिया में मशहूर विदेशी इंटरनेशनल डांस ग्रुप ‘पोरिओटिक्स’ के डांसर ‘ईडन कार्बेर्री’ ने भी डी पायरेट्स के अनोखे डांस स्टाइल और डांस स्टूडियो के प्रयासों को सराहा है और वीडियो के ज़रिये शुभकामनाएं भेजी हैं।
हार से हुई जीत की शुरुआत
कुल्लू शहर के रहने वाले इन युवाओ ने वर्ष 2012 में डांस ग्रुप बनाया जिसका नाम इन्होने रखा ‘डी पायरेट्स क्रू’। डांस वीडियोज देख देख कर ग्रुप के मेम्बर्स ने डांस सीखा। खाली मैदानों और कॉलेज के खाली कमरों में प्रैक्टिस की। दो सालों तक हर प्रतियोगिता में हार का सामना किया, लेकिन जिद और जुनून में कोई कमी नहीं आई। पहले जे ज्यादा मेहनत की और खुद को साबित कर दिखाया।
ऑनलाइन ऑडिशन सेलेक्ट किये डांसर्स
एक समय था जब ग्रुप के लीडर नीतिश और सूरज अकेले रह गए। यहां तक कि घर वालों ने भी साथ छोड़ दिया, पर अपने सपने को ज़िंदा रखने की चाह ने इन्हे कभी टूटने नहीं दिया। हिमाचल में ऑनलाइन ऑडिशन कर डांसर्स को सेलेक्ट किया और फिर से एक नई टीम बनाई और हिमाचल के एक और बड़े कम्पटीशन की तैयारी में जुट गए। 6 महीने जमकर पसीना बहाया और पंजाबी दूरदर्शन की उस प्रतियोगिता को भी जीता कर दम लिया।
‘इंडियाज गोट टैलेंट’ में हिमाचल का प्रतिनिधित्व
वर्ष 2015 में ‘डांस हिमाचल डांस’ का ख़िताब जीतने के बाद ये लोग रुके नहीं। वर्ष 2016 में ‘इंडियाज गोट टैलेंट’ में हिमाचल प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया तो न केवल हिमाचल प्रदेश बल्कि उत्तरी भारत में इनके नाम की धूम मच गई। अब इस ग्रुप का ख़ास तरह का डांस कला की दुनिया में धमाल मचा रहा है। हालांकि आंचलिक मीडिया में इन युवाओं की पीठ थपथपाना कभी जरूरी नहीं समझा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *