करियर प्वाइंट विश्वविद्यालय में शिक्षा मंत्रालय एवं एआईसीटीई ने दो दिवसीय इंपैक्ट लेक्चर का किया आयोजन, युवाओं को बताया बिजनेस में कैसे बनाएं करियर

Spread the love

फोकस हिमाचल की हमीरपुर ब्यूरो से रिपोर्ट

करियर प्वाइंट विश्वविद्यालय में शिक्षा मंत्रालय एवं एआईसीटीई भारत सरकार के सौजन्य से दो दिवसीय इंपैक्ट लेक्चर का आयोजन किया गया। इस दो दिवसीय सम्मेलन के तहत इजी टू पिच की फाउंडर और सीईओ, मेंटर नीति आयोग भारत सरकार, प्रियंका मदनानी, संस्थापक आईपी सलाहकार, मेंटर एआईसीटीई सौरभ त्रिवेदी व शलैश कुमार सिंह, सह निदेशक सूक्ष्म लघू एवं उद्यम मंत्रालय भारत सकरार मुख्य वक्ता के तौर पर उपस्थ्ति हुए। मुख्य वक्ताआओं ने अपने संबोधन में कहा कि शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार ने सभी उच्च शिक्षा संस्थानों के बीच इनोवेशन की संस्कृति को व्यवस्थित रूप से बढ़ावा देने के लिए इनोवेशन सेल की स्थापना की है।115 करोड़ की संधोल-बरच्छबाड़ पेयजल योजना बन कर तैयार, इसी महीने सीएम और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री करेंगे लोकार्पण :  महेंद्र सिंह ठाकुर

युवाओं को नए विचारों के साथ काम करने और उन्हें प्रोत्साहित करना, प्रेरित करना, परिसरों में नवाचार को बढ़ावा देने वाले पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा दिया जा सके। उद्यमियों, निवेशकों को समय-समय पर कार्यशालाओं, सेमिनारों का आयोजन करना चाहिए। स्टार्टअप इंडिया भारत सरकार की एक प्रमुख पहल है जिसका उदेश्य देश में स्टार्टअप्स और नये विचारों के लिए एक मजबूत तंत्र का निर्माण करना है। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित प्रोफेसरो, विद्यार्थियों व उद्यमियों को स्टार्टअप से संबंधित जानकारी दी, जिसमें प्रियंका मदनानी ने स्टार्टअप को कैसे प्रस्तुत करना है उसके बारे में बताया ताकि स्टार्टअप उद्यमि अच्छे तरीके से अपने स्टार्टअप को प्रस्तुत कर सकें। सौरभ त्रिवेदी ने स्टार्टअप को कैस बढ़ाना है तथा कैसे पेटेंट रजिस्ट्रर करवाना है उसके बारे में बताया। वहीं शैलैश कुमार सिंह ने भारत सरकार की विभिन्न स्कीमों की जानकारी साझा की । इस सम्मेलन के एक्पर्ट ने करियर प्वाइंट विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों का इनोवेशन क्षेत्र में भविष्य बनाने में पूरी सहायता देने की बात कही है।बंदरों का आतंक, नेताओं के मुंह बंद : 10 जिलों में बंदरों के आतंक ने छुड़वा दी खेतीबाड़ी, 2301 पंचायतों में कहर,  करोड़ों का नुकसान

यह कार्यक्रम स्टार्टअप और उद्यमिता के बारे में सम्पूर्ण जानकारी लोगों तक पहंुचाने का काम करेगा। इसमें स्टार्टअप कैसे करना है और कैसे स्टार्टअप को सरकार के साथ जोड़ना है। यह कार्यक्रम विद्यार्थियों और आम जनता को स्वरोजगार के नये विक्लप प्रदान करेगा और आत्म निर्भर भारत की तरफ प्रेरित करेगा। करियर प्वाइंट विश्वविद्यालय हमीरपुर, मुख्यमंत्री स्टार्टअप इनोवेशन के क्षेत्र में निरंतर आगे बढ रहा है। इस केंद्र का उदेश्य स्वरोजगार उत्पन करना तथा नए उद्योगों की स्थापन में आर्थिक मदद उपलब्ध करवाना है। इस कार्यक्रम को आईआईसी प्रेजिडेंट असिस्टेंट नोडल आॅफिसर पायोनियर इन्कयूवेटर इंजि. ऋषि शर्मा तथा डा. हेम चंद्र व डा. विजय भाटिया ने आयोजित करवाया। वि.वि. प्रशासन ने विश्वविद्यालय की नवाचार परिषद एवं पायोनियर इन्कूवेटर के सभी सदस्यों को इस सफल आयोजन के लिए शुभकामनाएं दी।मंडी के प्राचीन इतिहास की गहन गुफाओं में अंधेरा,  मंडी के प्राचीन इतिहास में बौद्ध संदर्भों की तलाश की कोशिश, कभी प्रसिद्ध यायावर राहुल सांस्कृत्यायन ने भी मंडी के इतिहास को खंगालने के किए थे प्रयास


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.