एडवांस आर्मी ट्रेनिंग के दौरान माऊ में प्यार चढ़ा परवान, धर्मशाला के कैप्टन दिगविजय के साथ परिणय सूत्र में बंधेगी मंडी की लेफ्टिनेंट आरूषि शर्मा

Spread the love

 

 एडवांस आर्मी ट्रेनिंग के दौरान माऊ में प्यार चढ़ा परवान, धर्मशाला के कैप्टन दिगविजय के साथ मंडी की लेफ्टिनेंट आरूषि शर्मा के परिणय सूत्र में बंधने की प्रेमकथा

 

मंडी से विनोद भावुक की रिपोर्ट

जब कांगड़ा जिला के धर्मशाला शहर के कैप्टन दिगविजय पठानिया और मंडी की लेफ्टिनेंट आरूषि शर्मा माऊ में एडवांस आर्मी ट्रेनिंग कर रहे थे तो दोनों के बीच पहला परिचय हुआ। जैसे- जैसे ट्रेनिंग आगे बढ़ती गई, दोनों के बीच नजदीकियां भी बढ़ती गईं और जब ट्रेनिंग पूरी हुई, तब तक दोनों एक -दूसरे को दिल देकर एक होने का फैसला कर चुके थे। दोनों ने अपनी पसंद के बारे में अपने- अपने परिजनों को सूचित किया। परिजनों ने भी बच्चों के फैसले पर अपनी मुहर लगा दी और शादी की तारीख तय हो गई। 10 मार्च 2019 को हिमाचल का यह सैन्य जोड़ा चंडीगढ़ में परिणय सूत्र में बंध गया। ये दानों सैन्य अधिकारी वर्तमान में पूवोत्तर में सैन्य सेवाएं प्रदान कर रहे हैं।

 

देश की टॉप 5 में रहीं है आरूषि

मंडी के इंजीनियर एवं समाजसेवी हरीश शर्मा और नेशनल स्पॉर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया की निदेशक रहीं ललिता शर्मा की बेटी आरूषि शर्मा ने वर्ष 2016 में यूपीएससी की ओर से आयोजित सीडीएस परीक्षा में भारत में पांचवां स्थान हासिल किया और ऑफिसर्स ट्रेनिंग अकादमी कोटा में उन्हें ओवर ऑल सिल्वर मेडल मिला। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने जून 2018 में आरूषि को शिमला में आयोजित बेटी है अलमोल कार्यक्रम में सम्मानित किया है।

 

आईएएस पिता के बेटे हैं दिगजिय

आईएएस पिता जीएम पठानिया के बेटे कैप्टन दिगविजय पठानिया धर्मशाला शहर से सम्बन्ध रखते है। उनके पिता भी भारतीय सेना में अधिकारी रहे हैं और उन्हें उनके नाम के बजाये कैप्टन पठानिया के नाम से ज्यादा जाना जाता है। दिगविजय को सेना मे जाने की प्रेरणा अपने पिता से मिली है और पिता की राह पर चलते हुए सेना में अफसर बने हैं। उन्होंने सैन्य अधिकारी आरूषि के साथ शादी के बंधन में बंध कर इस परम्परा को ओर मजबूत किया है।

 


Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.