एक रिसर्च : रियासी में रहते हैं लद्दाख को भारत से मिलाने वाले सेनानायक जोरावर सिंह के वारिस, हमीरपुर के अंसरा गांव के वासी थे

हमीरपुर से रमेश वर्मा की रिपोर्ट देश के महान सेनानायक जनरल जोरावर सिंह के जीवन पर…

एजे डंकन की किताब ‘द सिंपल एडवेंचर्स आफ  ए मेम साहब’ में है ऊंट और बैलगाड़ियों से शिमला पहुंचने और ब्रिटिश इंजीनियर के साथ रेलमार्ग निर्माण में मदद करने वाले बाबा भलखू का किस्सा

शिमला से सुनील शर्मा की रिपोर्ट एजे डंकन की किताब में विश्व धरोहर कालका-शिमला रेलखंड से…

आजादी का अमृत महोत्सव के तहत मंडी के हर घर फहराया जा रहा तिरंगा

फोकस हिमाचल ब्यूरो की मंडी से रिपोर्ट नेहरू युवा केंद्र मंडी व युवा सेवा एवं खेल…

राष्ट्र सेविका समिति की प्रांत संचालिका राजकुमारी सूद ने आईटीबीपी सैनिकों की कलाई में बांधी राखी

फोकस हिमाचल ब्यूरो की शिमला से रिपोर्ट राष्ट्र सेविका समिति की प्रांत संचालिका राजकुमारी सूद ने…

चौसकु प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय में आजादी का अमृत महोत्सव,  स्टूडेंट्स ने देशभक्ति पर आधारिम कार्यक्रम किए पेश,  कुलपति प्रो.एचके.चौधरी ने की सराहना

फोकस हिमाचल ब्यूरो की पालमपुर से रिपोर्ट चौसकु हिमाचल प्रदेश कृषि विश्वविद्यालय में देश की आजादी…

कूहल्स ऑफ कांगड़ा :  स्टेट यूनिवर्सिटी कैलिफोर्निया के सहायक प्रोफेसर जे मार्क बार्कर ने कांगड़ा की कूहलों पर अध्ययन किया था यह खुलासा, सिंचाई के लिए दुनिया का बेहतरीन सामुदायिक प्रबंधन

धर्मशाला से संजीव कौशल की रिपोर्ट हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिला में सिंचाई के लिए दुनिया…

पुस्तक समीक्षा :उच्च कोटी के साहित्यकार शांता कुमार की पुस्तक ‘भ्रष्टाचार का कड़वा सच’ भ्रष्ट राजनीति का कड़वा सच

हिमाचल  प्रदेश के पूर्व  मुख्यमंत्री एवं वर्तमान लोकसभा सांसद शांता कुमार की किताब ‘भ्रष्टाचार का कड़वा…

पढ़िये यातिन पंडित के लेख में कुल्लू का पौराणिक घटनाओं से संदर्भ : कुलूत जनपद का रामायण में वर्णन, भ्रमित होता हमारा इतिहास

अभी केवल अनुमान लगाया जा सकता है, परंतु अपनी सहज बुद्धि का प्रयोग अति आवश्यक है…

आज़ादी का अमृत महोत्सव : क्रांति की लौ जगाने में  मियां जवाहर के सिपहसालार जवाहर नरयाल की रही मुख्य भूमिका, 1915 को नागचला के लाकिया गोसाई के घर में हुई लूट में थे शामिल, ऐसे क्रांतिकारियों का विभाग के पास नहीं कोई रिकार्ड

मंडी से विनोद भावुक की रिपोर्ट गदर आंदोलन में मंडी के क्रांतिकारियों में जहां सिद्धू नाम…

आज़ादी का अमृत महोत्सव : एक आयरिश लेडी ने नाटकों में भारतीय संस्कृति को उभारकर ब्रिटिश हुकूमत को दी थी चुनौती, दिल में भारत के लिए प्रेम लेकर इंग्लैंड से लौट आईं नोरा रिचर्ड्स ने कांगड़ा के अंद्रेटा में किया बसेरा, यहीं नाटकशाला बनाकर ग्रामीणों को दिया अभिनय का प्रशिक्षण, इनकी ख्याति से प्रभावित होकर महान अभिनेता पृथ्वीराज कपूर और बलराज साहनी भी आये थे अंद्रेटा  

कांगड़ा से अतुल अंशुमाली की रिपोर्ट नोरा रिचर्ड्स एक ऐसी आयरिश लेडी, जिसने ब्रिटिश शासन का…