बीड बिलिंग पैराग्लाइडिंग एस्सोसिऐशन के अध्यक्ष को यकीन, एक दिन ओलिंपिक में भी स्थान मिलेगा

विनोद भावुक, / बीड़, बिलिंग:

पैराग्लाइडिंग एशिया गेम्स में शामिल, बीड़ बिलिंग का कद बढा

ओलिंपिक कौंसिल ऑफ़ एशिया ने परग्लाइडिंग को 2018 में प्रस्तावित 18वें एशिया गेम्स में पैराग्लाइडिंग को शामिल करने को सहमति दे दी है। 8वें एशिया गेम्स इंडोनेशिया के जकार्ता और पलमवर्ग में आयोजित होने जा रहे हैं. इन गेम्स में 32 ओलिंपिक और 8 नॉन ओलिंपिक स्पोर्ट्स को शामिल किया गया है, जिनमें परग्लाइडिंग भी शामिल है. पिछले पैराग्लाइडिंग का आयोजन कर सुर्खोयाँ बटोरने वाले बीड बिलिंग पैराग्लाइडिंग एस्सोसिऐशन के अध्यक्ष एवं शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा का कहना है कि परग्लाइडिंग से जुड़े दुनिया भर के हर खिलाड़ी, विशेषज्ञ और परग्लाइडिंग के विकास में जुटे संघों के लिए बड़ी सकून भरी खबर है. उनको यकीन है कि साहस और रोमांच के खेल को एक दिन ओलिंपिक में भी स्थान मिलेगा. वह दिन भी जल्द आयेगा।BIr-Billing-Himachal

पैराग्लाइडिंग वर्ल्ड कप का मेगा इवेंट सुधीर शर्मा के खाते में
बेशक बीड़ बिलिंग में प्रस्तावित पैराग्लाइडिंग वल्र्ड कप के मेगा इवेंट के आयोजन का श्रेय शहरी आवास मंत्री सुधीर शर्मा के खाते में जाता हो, लेकिन यह बात शायद कम ही लोगों को पता है कि इस घाटी में एयरो स्पोर्टस की संभावनाओं को देखते हुए यहां एयरो स्पोट्र्स का पहला आयोजन अस्सी के दशक में तत्कालीन ग्रामीण विकास मंत्री पंडित संत राम ने करवाया था।

क्या आप अपना सच्चा जीवनसाथी तलाश कर रहे है ? आज ही हिमाचल की पहली निशुल्क मेट्रिमोनियल वेबसाइट www.himachalirishta.com में अपना प्रोफाइल बनाये और चुने हजारों प्रोफाइल्स में अपना जीवनसाथी

नील किनियर और कीथ निकोल्स ने की पहचान 
चाय बागानों और देवदार के घने जंगलों से घिरे धौधार की बीड़ बिलिंग घाटी दुनिया की दूसरी सबसे अच्छी एयरो स्पोट्र्स साइट है। बीड़ बिलिंग अस्सी के दशक में उस समय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पैराग्लाइडिंग के खेल को लेकर सुर्खियों में आया, जब नील किनियर और कीथ निकोल्स जैसे साहस और रोमांच शोकीनों ने एयरो स्पोर्टस के खेल में घांटी में संभावनाओं को पता लगाया और समुद्र तल से 2400 मीटर की ऊंचाई पर स्थित बीड़ बिलिंग में टेक ऑफ प्वांयट से हैंग ग्लाइडिंग शुरू की।

beed-billing-parragliding

पंडित संत राम ने बनाया बीड़ बिलिंग को पैराग्लाइडरों का स्वर्ग 
बीड़ बिलिंग को पैराग्लाइडरों को स्वर्ग बनाने की का श्रेय तत्कालीन ग्रामीण विकास मंत्री पंडित संत राम शर्मा को जाता है। उन्होंने घाटी में पहले हैंग ग्लाइडिंग के आयोजन के लिए जमीन तैयार की, जिसे फोर स्क्वायर ने प्रायोजित किया। हालांकि अस्सी के दशक में घाटी में शुरू हुए एयरो स्पोट्र्स ने धीरे- धीरे रफ्तार पकड़ी और नब्बे के दशक में घाटी में एयरो स्पोर्टस के आयोजन नियमित हो गए।

आसमान में कलाबाजियों को लगे पंख
बीड़ बिलिंग में पैराग्लाइडिंग को शुरू करने का श्रेय फ्रेंच पायलटों को जाता है। उन्होंने दो दशक पहले शुरू हुई पैराग्लाइडिंग 1992 में घाटी में पैराग्लाइडिंग की शुरूआत की। 2002 से लेकर 2007 में घाटी में लगातार पैराग्लाइडिंग प्री वल्र्ड कप का आयोजन स्थल बन गया। 2013, के प्री वल्र्ड कप ने बीड़ बिलिंग को पैराग्लाइडिंग वल्र्ड कप का आयोजन स्थल बनने के लिए जमीन मजबूत की। वर्मतान शहरी आवास मंत्री सुधीर शर्मा जो बीड़ बिलिंग पैराग्लाइडिंग एसोशिएशन के अध्यक्ष भी हैं, उन्होंने पैराग्लाइडिंग वर्ल्ड कप मेगा इवेंट के लिए अहम भूमिका अदा की है।birbillingparagliding4

 

sudhir-sharma-himachal"साहस और रोमांच के खेल को एक दिन ओलिंपिक में भी स्थान मिलेगा. वह दिन भी जल्द आयेगा। "
सुधीर शर्मा, बीड बिलिंग पैराग्लाइडिंग एस्सोसिऐशन के अध्यक्ष एवं शहरी विकास मंत्री

 

Facebook Comments